‘आफताब को हमें सौंप दें, हम हिसाब बराबर कर लेंगे’:- हिंदुत्व की आवाज

दिल्ली के महरौली इलाके में हुए श्रद्धा हत्याकांड से पूरे देश में गुस्से का महौल है. जिस तरीके से श्रद्धा के प्रेमी आफताब ने उसकी हत्या करके शव के 35 टुकड़े किए. यह सुनकर हर किसी के रौंगटे खड़े हो गए. आफताब की इस हरकत को लेकर जगह जगह विरोध प्रदर्शन हो रहा है। समाज सेवी सचिन सिरोही ने अपने संगठन ‘हिंदुत्व की आवाज’ के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर मेरठ में कमिश्नर ऑफिस के सामने विरोध प्रदर्शन किया. विरोध करते हुए आफताब का पुतला बनाया. पहले तो पुतले को चप्पल-जूते से मारा और उसके बाद पुतला जला दिया. इस बीच संगठन के लोगों ने आफताब मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

‘हिंदुत्व की आवाज’ के अध्यक्ष सचिन सिरोही ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम ज्ञापन दिया. उन्होंने मांग करते हुए कहा कि श्रद्धा हत्याकांड मामले में सीबीआई और एनआईए के जांच कराई जाए. जांच होते ही आफताब को फांसी की सजा दी जानी चाहिए. साथ ही सचिन सिरोही ने आक्रोश जताते हुए मांग की, कि आफताब को सरकार हमें सौंप दे, ताकि हम अपनी बहन श्रद्धा का हिसाब कर सकें. साथ ही समाज में एक उदाहरण भी पेश होगा, जिससे आगे कभी भी कोई लव जिहाद जैसी घटना को अंजाम नहीं दे सकेगा. सचिन सिरोही ने कहा कि अफताब पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, उसने हमारी बहन को मटन के टुकड़ों की तरह काट दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्होंने अपील करते हुए कहा है कि देश में धर्मांतरण और लव जिहाद के केस लगातार सामने आ रहे हैं और ऐसे लोगों को सिर्फ फांसी की सजा हो.

आरोपी आफताब होटल में काम करता था और जिस तरह से उसने टुकड़े किए और उसको फ्रिज में रखा, वह इन लोगों की मानसिकता को दर्शाता है. हिंदुत्व की आवाज’ के अध्यक्ष सचिन सिरोही ने मांग की, कि आफताब का केस फास्ट ट्रैक में चलना चाहिए और 15 दिन के अंदर-अंदर फांसी की सजा सुनाई जानी चाहिए. अगर ऐसा नहीं हो सकता है तो आफताब को हमें सौंप दिया जाए. समाज अपनी बहन का बदला खुद ले लेगा. हम सबको बता देंगे कि हमारे समाज में कितनी ताकत है. ऐसे लोगों को कैसी सजा दी जानी चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि जो हिंदू बहन-बेटियों के साथ यह लोग कर रहे हैं, वह बिल्कुल बंद हो जाएगा.

श्रद्धा की निर्मम हत्या के बाद हिंदू समाज में इतना गुस्सा है कि उन्होंने चेतावनी देते हुए कह दिया कि 15 दिन के अंदर-अंदर अगर आफताब को सजा नहीं हुई तो एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा. यह मामला सिर्फ श्रद्धा का नहीं है, बल्कि पूरे समाज की बहन-बेटियों का है. सचिन सिरोही ने मेरठ का ही उदाहरण देते हुए कहा कि अवतार जैसे एक व्यक्ति ने अपनी ही पत्नी प्रिया को अपने घर के अंदर ही दफना दिया था. अगर ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई नहीं की गई तो यह मामला ऐसे ही बढ़ता रहेगा. उन्होंने प्रधानमंत्री से विनती करते हुए कहा कि 100 करोड़ हिंदुओं का यह विषय है. इस पर कड़ा कानून लाया जाए.