एमसीडी को नहीं मिला ‘बॉस’, फिर टला मेयर का चुनाव, कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

MCD Mayor Election Postponed: दिल्ली नगर निगम के मेयर का चुनाव एक बार फिर से नहीं हो सका. मंगलवार को दिल्ली नगर निगम का सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. ऐसे में मेयर का चुनाव फिर से फंसा गया. बीजेपी पार्षदों के लगातार हंगामे के बाद सदन स्थगित किया गया. हालांकि, इससे पहले सभी पार्षदों ने शपथ ग्रहण किया. छह जनवरी को बैठक जहां खत्म हुई थी, वहीं से मंगलवार को सदन की कार्यवाही की शुरुआत की गई. इस दौरान आप पार्षदों के ‘शर्म करो, शर्म करो’ के नारों के बीच पहले सभी मनोनीत सदस्यों को बारी-बारी से शपथ दिलाई गई.

इसके बाद सभी निर्वाचित पार्षदों ने शपथ ली. वहीं, शपथ समारोह के दौरान भाजपा नेताओं ने “जय श्री राम” और “भारत माता की जय” के नारे लगाए. यही नहीं दिल्ली नगर निगम के सदन में सदन पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान आप-बीजेपी नेताओं के हंगामे के बीच अचानक बागेश्वर धाम का नारा गूंज उठा. वार्ड नंबर 202 से बीजेपी पार्षद राम किशोर शर्मा ने शपथ के बाद बागेश्वर धाम का जयकारा लगाया. पहले से ही एमसीडी मेयर चुनाव में हंगामे की आंशका जताई जा रही थी.

शैली ओबरॉय और आशु ठाकुर को आप ने बनाया है मेयर उम्मीदवार

आपको बता दें कि दिल्ली नगर निगम के चुनाव 4 दिसंबर को हुए थे और मतगणना सात दिसंबर को हुई थी. आम आदमी पार्टी ने 134 वार्ड जीतकर एमसीडी में बीजेपी के 15 साल के शासन को खत्म कर दिया. बीजेपी ने एमसीडी के 250 सदस्यीय सदन में 104 वार्ड में, जबकि कांग्रेस ने नौ वार्ड में जीत दर्ज की. वहीं दिल्ली नगर निगम के महापौर पद के प्रत्याशियों में आम आदमी पार्टी से शैली ओबरॉय और आशु ठाकुर, जबकि बीजेपी से रेखा गुप्ता हैं. शैली ओबरॉय आप की मुख्य दावेदार हैं. उपमहापौर पद के प्रत्याशियों में आप से आले मोहम्मद इकबाल और जलज कुमार, जबकि बीजेपी से कमल बागड़ी हैं.