‘एलोवेरा’ है एक सुपर-प्लांट, बीमारियों से लेकर प्रदूषण तक के लिए है उपयोगी

‘ऐलोवेरा’, एक ऐसा पौधा, जिसके प्रयोग से कई बीमारियां ठीक होती हैं और आपके सौंदर्य को निखारने में भी काफी उपयोगी होता है, इसलिए तो ऐलोवेरा को आयुर्वेद में संजीवनी भी कहा जाता है। लेकिन आज हम आप को ऐलोवेरा के एक और गुण के बारे में बताने जा रहे हैं, क्या आप जानते हैं ऐलोवेरा के पौधे से बढ़ते प्रदूषण को भी कम किया जा सकता है। जहां आज दूनिया भर में लोग वायु प्रदूषण और धुंध की समस्या से परेशान है, ऐसे में अगर एलोवेरा जैसे पौधों की संख्या बढ़ाई जाए तो कुछ हद तक धुंध से निजात मिल सकती है। एलोवेरा कार्बनडाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड को सोख लेता है और ऑक्सीजन को बढ़ाता है। ऐसा माना जाता है कि एलोवेरा का एक पौधा 9 एयर प्यूरीफायर के बराबर होता है। ऐलोवेरा में अमीनो एसिड की मात्रा भी भरपूर रहती है और इतना ही नहीं इसमें पाए जाने वाली विटामिन 12 की मौजूदगी से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बनी रहती है और IMMUNITY को भी बेहतर करता है.

एलोवेरा त्वचा की देखभाल से लेकर बालों की खूबसूरती तक और घावों को भरने से लेकर कैंसर से निजात पाने तक, हर परेशानी का आपको हल देता है। इस तरह आसानी से उपलब्ध होने वाले इस पौधे को हम घर के अंदर, बाहर, आस पास गमलों में, छत पर कहीं भी लगा सकते हैं ताकि AIR POLLUTION के साथ-साथ बीमारियों से भी बचा जा सके।