एसे मल्लिकार्जुन खरगे का छलका दर्द- वो बोले ‘लोग आपकी चाय तो पीते हैं, मेरी तो चाय भी कोई नहीं पीता’

Gujarat Election 2022: मल्लिकार्जुन खरगे ने पूछा हैं कि 27 साल तक जिस गुजरात में बीजेपी की सरकार रही और वही 8 साल तक नरेंद्र मोदी के पीएम रहने के बावजूद, भी गुजरात के युवाओं के पास रोज़गार क्यों नहीं है?

Gujarat Assembly Election 2022: इस बार गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रचार की कमान संभालते हुए बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद मोदी पर हमला बोला है. और फिर मल्लिकार्जुन खरगे ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा हैं कि वो अक्सर कहते हैं कि 70 साल में कांग्रेस ने क्या किया? अगर हम कुछ नहीं करते तो आप लोकतंत्र नहीं पाते. और आपके जैसा आदमी (मोदी) हमेशा कहते हैं कि वो गरीब हैं, हम भी गरीब हैं और हम तो गरीब से भी गरीब हैं. हम (खरगे) लोग तो अछूतों में आते हैं. वही कम से कम तुम्हारी चाय तो कोई पीता है, मेरी चाय भी नहीं पीता कोई.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने अपना हमला जारी रखते हुए ये भी कहा हैं की, प्रधानमंत्री नरेंद मोदी हमेशा कहते हैं कि वो गरीब हैं, तो किसी ने मुझे ये अपशब्द कहे थे की अगर आप ये बोलकर लोगों की सहानुभूति पाने की कोशिश कर रहे हैं तो लोग अब समझदार हो गए हैं. और अब लोग इतने बेफकूफ नहीं हैं. जो आप एक बार झूठ बोलोगे तो वो दो बार झूठ बोलेंगे.. और अगर लोग सुन रहे हैं, तोह इसका मतलब ये नही हैं की आप झूठ पर झूठ बोल रहे हैं. और आप झूठों के सरदार हैं.

गुजरात के युवाओं के पास रोज़गार क्यों नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने गुजरात की बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए पूछा हैं कि 27 साल तक गुजरात में बीजेपी की सरकार होने और 8 साल तक मोदी जी के प्रधानमंत्री रहने के बावजूद, गुजरात के युवाओं के पास रोज़गार क्यों नहीं है? वही दूसरी तरफ कांग्रेस का प्रण है कि हम गुजरात में 10 लाख नौकरियां देंगे. और फिर गुजरात को 20 लाख नौकरियां देने का सपना दिखाने वाली बीजेपी सरकार ने पिछले 2 सालों में केवल 1278 नौकरियां ही दी हैं. पर अब 16 जिलों में से तो एक जिले को भी नौकरी नहीं दी हैं. हलाकि देश के युवा 2 करोड़ सालाना नौकरी वाले झांसे को पहचान चुके हैं. और अब गुजरात के युवा इस झांसे का पुरज़ोर जवाब देंगे.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि ये डबल इंजन सरकार की बात करते हैं. पर वही इनकी केंद्र सरकार वाला इंजन भी काम नहीं करता और अब गुजरात सरकार का इंजन ख़राब हो गया है, और तभी तो वो बार-बार मुख्यमंत्री बदलते हैं. और अब इस बार कांग्रेस पार्टी गुजरात में सभी वर्गों को साथ लेकर चलेगी. और फिर सभी के स्वाभिमान को सुरक्षित रखेगी.

दो चरणों में होगी वोटिंग

गुजरात के पहले चरण की वोटिंग 1 दिसंबर को होगी, वही दूसरे चरण की वोटिंग 5 दिसंबर को होगी. और वहीं, दोनों चरणों की मतगणना हिमाचल प्रदेश के साथ 8 दिसंबर को होगी. 182 गुजरात विधानसभा चुनाव सीटों पे हमेसा आमतौर पर मुख्य लड़ाई भाजपा और कांग्रेस के बीच ही रही है. पर इस बार आम आदमी पार्टी ने भी पूरी ताकत झोंक दी है. और फिर बहुमत के लिए 92 सीटों की जरूरत होती है. 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 99, कांग्रेस को 77 सीटें मिलीं थी. छह सीटें निर्दलीय और अन्य के खाते में गई थीं.