क्यों सरकारी कार्यक्रम में अधिकारियों पर भड़कीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जानिए क्या है ये मामला

Kolkata: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज (मंगलवार) को एक सरकारी कार्यक्रम में अधिकारियों पर भड़क गईं हैं. और फिर उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई. क्यूंकि दरअसल, वह जनता को गर्म कपड़े बांटने वाली थीं, पर लेकिन कपड़े वहां नहीं पहुंचे थे.

West Bengal: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज (मंगलवार) को एक सरकारी कार्यक्रम में अधिकारियों पर भड़क गईं थी. और फिर इसके बाद उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई. दरअसल, उत्तर 24 परगना के हिंगलगंज में सीएम ममता बनर्जी एक सरकारी कार्यक्रम में पहुंची थी. जहां वे जनता को गर्म कपड़े बांटने वाली थीं, पर लेकिन अब कपड़े वहां नहीं पहुंचे थे. इसलिए बस इसी बात पर मुख्यमंत्री अपना आपा खो बैठीं. और वही कार्यक्रम में तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां और बंगाल के मुख्य सचिव डॉ. हरि कृष्ण द्विवेदी भी मौजूद थे.

और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंच से ही सरकारी अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा हैं कि मैं मंच पर तब तक खड़ी रहूंगी जब तक गर्म कपड़े नहीं आ जाते हैं. और अभी तक वे कपड़े बीडीओ खंड विकास अधिकारी  के दफ्तर में क्यों पड़े हैं? और फिर उन्होंने ये भी कहा हैं कि वह यहां कपड़े बांटने आई थीं, पर लेकिन अब ये नहीं होगा, तो फिर मैं क्यों सभा कर रही हूं.

गलती कोई भी करे गालियां तो मुझे पड़ती हैं

फिर इसके साथ ही उन्होंने कहा हैं कि अगर कोई अधिकारी गलती करता हैं तो उसके बदले में गालियां मुझे पड़ती हैं. जबकि सच तो ये है कि मुझे इन सबके बारे में कुछ पता ही नहीं होता. और इसमें मेरा कोई दोष भी नहीं होता है, और मैंने तो कोई गलती भी नहीं की. पर अगर अधिकारी काम नहीं करेगा तो मजबूरन मुझे कदम उठाना ही होगा. और फिर अधिकारियों को फटकार लगाने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लगभग 15 मिनट तक इन्तजार करना पड़ा था. और फिर इसके बाद कंबल लाया गया था और उसके बाद लगभग 1000 कंबल वितरित किए गए थे.

जल्द होगा दो नए जिलों का एलान

अब हिंगलगंज में आयोजित इस कार्यक्रम के लिए हजारों लोग आए थे. जहाँ बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दो दिवसीय दौरे पर जिले में आई हैं. और इससे पहले वो हेलीकॉप्टर के जरिए मंगलवार दोपहर को यहां पहुंची और फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्थानीय देवी ‘बोनबीबी’ के मंदिर जाकर प्रार्थना की हैं और एक पेड़ भी लगाया.

और अब बताया जा रहा है कि वह दक्षिण और उत्तर 24 परगना से बने दो नए जिलों के रूप में सुंदरबन और बशीरहाट की आधिकारिक तौर पर घोषणा करेंगी. जहाँ सूत्रों ने बताया हैं कि दो नए जिले बनाने के लिए सभी आवश्यक कार्य पूरे कर लिए गए हैं.