जिम ज्वाइन करने से पहले करवाले हार्ट चेकअप…

Before Weight Lifting In Gym Get Heart Scan First Know Why | जिम जॉइन करने की सोच रहे? एक्सपर्ट से जानें आपको हार्ट स्कैन करना चाहिए या नहीं

दुनिया भर में हार्ट अटैक से होने वाली मौत के मामले तेजी से बढ़ रहे है. आपने अक्सर खबरों में सुना होगा या विडियो में देखा होगा की स्वस्थ दिख रहे चलते-फिरते , बैठे हुए , खेलते या खाते हुए लोगो को अचानक से दिल में दर्द होने लगता है और उन्हें दिल का दौरा पड़ जाता है.

दुनिया भर में हार्ट अटैक से होने वाली मौत के मामले तेजी से बढ़ रहे है. आपने अक्सर खबरों में सुना होगा या विडियो में देखा होगा की स्वस्थ दिख रहे चलते-फिरते , बैठे हुए , खेलते या खाते हुए लोगो को अचानक से दिल में दर्द होने लगता है और उन्हें दिल का दौरा पड़ जाता है. ऐसे केस भी बहुत बढ़े है जहाँ जिम में वर्कआउट करते हुए लोगो की हार्ट अटैक से मृत्यु हो गयी. हार्ट अटैक से मौत के मामले कोविड-19 की महामारी के बाद से तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इससे यह तो साफ जाहिर होता है कि इस वायरस के प्रभाव से बॉडी का कोई भी अंग अछूता नहीं रहा है।

कोरोना के बाद इम्यूनिटी बढ़ाने और स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए स्वस्थ खाने और एक्सपर्ट द्वारा दी गयी नियमित एक्सरसाइज करने की सलाह को मानते हुए कुछ लोगों ने जिम भी ज्वाइन किया। लेकिन जिम में होने वाली अचानक मौतों ने एक्सरसाइज को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं। जब आप व्यायाम करने के लिए जिम जाते हैं, तो आपको अपनी कसरत क्षमताओं से संतुष्ट होने की आवश्यकता होती है। दूसरों शब्द में आपको एकदम से व्यायाम कभी भी नहीं बढ़ाना चाहिए, क्योंकि इससे कई बार दिक्कत होती है। इसलिए अपनी क्षमता को ध्यान में रख कर व्यायाम करें।

जिन लोगों के परिवार में हृदय संबंधी बड़ी बीमारियों का इतिहास रहा है, उन्हें अपने स्वास्थ्य के प्रति अधिक सतर्क रहना चाहिए। यदि आप भी जिम में वर्कआउट करते हैं, तो कोशिश करें कि ज्यादा हैवी एक्ससाइज की जगह नॉर्मल वर्कआउट पर ज्यादा ध्यान दें। डॉक्टर्स का भी मानना है कि ज्यादा देर तक जिम में एक्सरसाइज करने से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। दिल का दौरा तब पड़ता है जब दिल में खून का प्रवाह गंभीर रूप से कम या बाधित हो जाता है। ज्यादा एक्सरसाइज हृदय की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचा सकती है, जिससे हार्ट अटैक भी हो सकता है। हमेशा ट्रेनर की निगरानी में ही वर्कआउट करें और हल्की सी बैचेनी होने पर भी वर्कआउट तुरंत बंद कर दें।