त्योहारी सीजन में कोरोना की नई लहर का खतरा! नया वैरिएंट भारत पहुंचा, ये लक्षण दिखें तो न समझें आम सर्दी जुकाम

कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरी दुनिया ही बदल गई है। इस महामारी ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। जब ये लगने लगा कि अब कोरोना विदा हो रहा है, तब तब वह फिर पलटवार करता है। भारत में हाल के महीनों में यह समझा जाने लगा था कि अब कोरोना महामारी लगभग खत्म हो चुकी है। वहीं इससे उलट कोरोना ने फिर दस्तक दे दी है। भारत सहित पूरी दुनिया में कोरोना के दो नए वैरिएंट आए हैं। इन नए सब-वैरिएंट्स के नाम BA.5.1.7 और BF.7 है। इन्हें काफी संक्रामक माना जा रहा है। अब त्योहारी सीजन में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

गुजरात के रिसर्च सेंटर में दर्ज किया गया BF.7 का मामला

इस नए ओमिक्रॉन BF.7 को ‘ओमिक्रोन स्पॉन’ के रूप में भी जाना जाता है। भारत में भी ओमिक्रॉन BF.7 का एक मामला दर्ज किया गया है। BF.7 का ये मामला गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर में पाया गया है। ऐसे में एक्सपर्ट्स ने लोगों से त्योहारों के दौरान विशेष सावधानी बरतने की अपील की है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन BF. 7 को लेकर ये आशंका जताई जा रही है कि यह वैरिएंट पहले से मौजूद वैरिएंट को रिप्लेस कर देगा।

वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को दे सकता है चकमा

एक्सपर्ट्स के अनुसार ओमिक्रॉन का यह सब-वैरिएंट पहले हुए इंफेक्शन या वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को आसानी से चकमा दे सकता है। इस मामले में ये नया सब-वैरिएंट पिछले सभी सब-वैरिएंट्स की तुलना में बेहतर काम करता है।

बाकी वैरिएंट्स से ज्यादा तेजी से फैलता है नया वैरिएंट

जानकारी  के मुताबिक  नया वैरिएंट ​BA.5.1.7 और BF.7 बाकी वैरिएंट्स की तुलना में तेजी से फैल रहा है। ओमिक्रॉन के इन दोनो वैरिएंट्स की संक्रामता दर काफी अधिक है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि नए वैरिएंट्स लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को आसानी से चकमा दे सकते हैं।

क्या है ओमिक्रॉन  BF.7

ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट BF.7 सबसे पहले नॉर्थवेस्ट चीन के मंगोलिया ऑटोनोमस रीजन में पाया गया था। यही सब-वैरिएंट चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार है। ओमिक्रॉन का ये नया सब-वैरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है और अमेरिका, ब्रिटेन,

कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरी दुनिया ही बदल गई है। इस महामारी ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। जब ये लगने लगा कि अब कोरोना विदा हो रहा है, तब तब वह फिर पलटवार करता है। भारत में हाल के महीनों में यह समझा जाने लगा था कि अब कोरोना महामारी लगभग खत्म हो चुकी है। वहीं इससे उलट कोरोना ने फिर दस्तक दे दी है। भारत सहित पूरी दुनिया में कोरोना के दो नए वैरिएंट आए हैं। इन नए सब-वैरिएंट्स के नाम BA.5.1.7 और BF.7 है। इन्हें काफी संक्रामक माना जा रहा

है। अब त्योहारी सीजन में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

गुजरात के रिसर्च सेंटर में दर्ज किया गया BF.7 का मामला

इस नए ओमिक्रॉन BF.7 को ‘ओमिक्रोन स्पॉन’ के रूप में भी जाना जाता है। भारत में भी ओमिक्रॉन BF.7 का एक मामला दर्ज किया गया है। BF.7 का ये मामला गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर में पाया गया है। ऐसे में एक्सपर्ट्स ने लोगों से त्योहारों के दौरान विशेष सावधानी बरतने की अपील की है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन BF. 7 को लेकर ये आशंका जताई जा रही है कि यह वैरिएंट पहले से मौजूद वैरिएंट को रिप्लेस कर देगा।

वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को दे सकता है चकमा

एक्सपर्ट्स के अनुसार ओमिक्रॉन का यह सब-वैरिएंट पहले हुए इंफेक्शन या वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को आसानी से चकमा दे सकता है। इस मामले में ये नया सब-वैरिएंट पिछले सभी सब-वैरिएंट्स की तुलना में बेहतर काम करता है।

बाकी वैरिएंट्स से ज्यादा तेजी से फैलता है नया वैरिएंट

जानकारी  के मुताबिक  नया वैरिएंट ​BA.5.1.7 और BF.7 बाकी वैरिएंट्स की तुलना में तेजी से फैल रहा है। ओमिक्रॉन के इन दोनो वैरिएंट्स की संक्रामता दर काफी अधिक है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि नए वैरिएंट्स लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को आसानी से चकमा दे सकते हैं।

क्या है ओमिक्रॉन  BF.7

ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट BF.7 सबसे पहले नॉर्थवेस्ट चीन के मंगोलिया ऑटोनोमस रीजन में पाया गया था। यही सब-वैरिएंट चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार है। ओमिक्रॉन का ये नया सब-वैरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है और अमेरिका, ब्रिटेन,

कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरी दुनिया ही बदल गई है। इस महामारी ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। जब ये लगने लगा कि अब कोरोना विदा हो रहा है, तब तब वह फिर पलटवार करता है। भारत में हाल के महीनों में यह समझा जाने लगा था कि अब कोरोना महामारी लगभग खत्म हो चुकी है। वहीं इससे उलट कोरोना ने फिर दस्तक दे दी है। भारत सहित पूरी दुनिया में कोरोना के दो नए वैरिएंट आए हैं। इन नए सब-वैरिएंट्स के नाम BA.5.1.7 और BF.7 है। इन्हें काफी संक्रामक माना जा रहा

है। अब त्योहारी सीजन में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

गुजरात के रिसर्च सेंटर में दर्ज किया गया BF.7 का मामला

इस नए ओमिक्रॉन BF.7 को ‘ओमिक्रोन स्पॉन’ के रूप में भी जाना जाता है। भारत में भी ओमिक्रॉन BF.7 का एक मामला दर्ज किया गया है। BF.7 का ये मामला गुजरात बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर में पाया गया है। ऐसे में एक्सपर्ट्स ने लोगों से त्योहारों के दौरान विशेष सावधानी बरतने की अपील की है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन BF. 7 को लेकर ये आशंका जताई जा रही है कि यह वैरिएंट पहले से मौजूद वैरिएंट को रिप्लेस कर देगा।

वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को दे सकता है चकमा

एक्सपर्ट्स के अनुसार ओमिक्रॉन का यह सब-वैरिएंट पहले हुए इंफेक्शन या वैक्सीनेशन से बनी एंटीबॉडीज को आसानी से चकमा दे सकता है। इस मामले में ये नया सब-वैरिएंट पिछले सभी सब-वैरिएंट्स की तुलना में बेहतर काम करता है।

बाकी वैरिएंट्स से ज्यादा तेजी से फैलता है नया वैरिएंट

जानकारी  के मुताबिक  नया वैरिएंट ​BA.5.1.7 और BF.7 बाकी वैरिएंट्स की तुलना में तेजी से फैल रहा है। ओमिक्रॉन के इन दोनो वैरिएंट्स की संक्रामता दर काफी अधिक है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि नए वैरिएंट्स लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को आसानी से चकमा दे सकते हैं।

क्या है ओमिक्रॉन  BF.7

ओमिक्रॉन का नया सब-वैरिएंट BF.7 सबसे पहले नॉर्थवेस्ट चीन के मंगोलिया ऑटोनोमस रीजन में पाया गया था। यही सब-वैरिएंट चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार है। ओमिक्रॉन का ये नया सब-वैरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है और अमेरिका, ब्रिटेन,ऑस्ट्रेलिया और बेल्जियम में भी इसके मामले पाए जा रहे हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि BF.7 वैरिएंट का इंफेक्शन रेट काफी ज्यादा हाई है।