दिल्ली में शुरू हुई भारत-मध्य एशिया की बैठक, NSA डोभाल ने आतंकवाद पर उठाया सवाल

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, सुरक्षा परिषदों के सचिवों की पहली भारत और मध्य एशिया बैठक राजधानी दिल्ली में शुरू हुई है. इस बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने इस बैठक में सभी का स्वागत किया हैं. इस सम्मेलन में कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान समेत उज्बेकिस्तान के शीर्ष अधिकारी शामिल हुए हैं.

वही, NSA अजीत डोभाल ने इस मौके पर अफगानिस्तान में उत्तपन होने वाले आतंकवाद के खतरे को लेकर चर्चा की हैं. उन्होंने कहा हैं कि, मध्य एशियाई देशों के साथ बैठक भारत के लिए प्राथमिकता है. हम इस क्षेत्र में हर तरीके से सहयोग, निवेश से लेकर कनेक्टिविटी बनाने के लिए तैयार है.

‘आतंकवादी नेटवर्क का बना रहना चिंता का विषय’- अजीत डोभाल

बता दे कि, अजीत आगे बोले, अफगानिस्तान सहित क्षेत्र में आतंकवादी नेटवर्क का बना रहना भी एक गहरी चिंता का विषय है. वित्त पोषण आतंकवाद का जीवन है, आतंकवाद के वित्त पोषण का मुकाबला करना हम सभी के लिए प्राथमिकता होनी चाहिए. संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों को आतंकवादी गतिविधियों में शामिल संस्थाओं को सहायता प्रदान करने से बचना चाहिए.

पिछले साल… 

दरअसल, पिछले साल 2021 में भारत ने अफगानिस्तान की स्थिति को लेकर एक क्षेत्रीय वार्ता की अगुवाई की थी. इसमें रूस से लेकर ईरान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान समेत उज्बेकिस्तान के एनएसए शामिल हुए थे. हालांकि, ऐसा पहली बार हुआ है, कि भारत मध्य एशियाई देशों के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर रहा है.