दिल्ली से क्या…’टू पार्टी सिस्टम’ खत्म हो गई? एमसीडी चुनाव में AAP ने ऐसे बनाया त्रिकोणीय मुकाबला

आम आदमी पार्टी देश में कांग्रेस की जगह विकल्प बनने की तैयारी में है. दिल्ली में सत्तारूढ़ ‘आम आदमी’  MCD चुनाव को जीतने का कोई भी मौका नहीं गवांना चाहती है. जाहिर है कि अगर पार्टी दिल्ली के नगर निगम चुनाव जीतती है, तो उसकी पॉवर में बेतहाशा वृद्धी देखी जाएगी. इसलिए बीजेपी और आम आदमी पार्टी दोनों ही एमसीडी चुनाव को राष्ट्रीय महत्त्व के चुनाव के तौर पर ले रही हैं.
वही, दिल्ली में ‘आप’ पार्टी के आने से पहले चुनाव बीजेपी और कांग्रेस के बीच होते रहे थे. लेकिन ‘आम आदमी पार्टी’  के आने के बाद दिल्ली में चुनाव का मुकाबला त्रिकोणीय हो गया हैं. ऐसे में दिल्ली की राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया हैं. 2012 में एमसीडी चुनाव का मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच में हुआ था. ओर अब 2022 में एमसीडी का मुकाबला बीजेपी, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय हो गया है.

2012-17 का एमसीडी चुनाव

साल 2012 के MCD चुनाव में बीजेपी को 36.74 फीसदी वोट मिला था, जबकि कांग्रेस को 30.54 फीसदी, बहुजन समाज पार्टी को 9.98 फीसदी और निर्दलीय उम्मीदवारों को 14.22 फीसदी मत मिले थे. वहीं साल 2017 का निगम चुनाव में परिदृश्य अलग था. इस चुनाव में बीजेपी को 36.02 फीसदी, तो कांग्रेस को 21.21 फीसदी, आम आदमी पार्टी को चौंकाते हुए दूसरे पायदान पर आ गई और उसको 26. 21 फीसदी वोट मिला था.

इस बार के चुनाव एकदम अलग है

इन दो चुनावों की बात करे तो 2012-17 तो इस बार के दिल्ली नगर निगम के चुनाव एकदम अलग हैं. वही, कई राजनीतिक विशलेषक बता रहे हैं कि,     8 दिसंबर को जब नतीजे आएंगे तो परिणाम चौंकाने वाले हो सकते हैं.

किसको चुनेंगे वोटर्स

जब वोटर्स के पार्टी चुनने की बारी आती है तो मतदाताओं के बीच एक स्पष्ट विभाजन दिखता है. स्वर्ण जाति और संपन्न इलाकों के आधे लोग बीजेपी को पसंद करते हुए दिखाई दे रहे हैं. वहीं, निचली कास्ट का आधा हिस्सा आम आदमी पार्टी की ओर चला जाता हैं.  वही, बीजेपी हिंदू उच्च जातियों का समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रही है. हालांकि हिंदू उच्च जातियों के मतदाताओं का एक महत्वपूर्ण अनुपात आप और अन्य दलों को भी पसंद करता दिख रहा है. मुस्लिम समुदाय आम आदमी पार्टी और कांग्रेस दोनों को पसंद कर रहा है.
आम आदमी पार्टी मध्यम और अमीर वर्ग के मतदाताओं को आकर्षित करके बीजेपी को चुनौती दे रही है. इसके अलावा ही आप को निम्न आय वर्ग, गरीब, निम्न वर्ग और महिला मतदाताओं का भी समर्थन मिलता दिख रहा है.

हम आपको बता दे कि, दिल्ली  मे 250 वार्डों वाले नगर निगम के चुनाव 4 दिसंबर को होंगे. चुनाव आयोग के मुताबिक एमसीडी चुनाव के लिए 4 दिसंबर को सुबह 8 बजे से शाम 5.30 बजे तक वोट डाले जाएंगे. चुनाव में कुल 1,349 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया है, जिसमें से 709 महिला और बाकी के पुरुष उम्मीदवार हैं. आम आदमी पार्टी और बीजेपी ने सभी 250 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं, जबकि कांग्रेस ने 247 सीटों पर उमामीदवार खड़े किए हैं