पहले छंटनी, फिर मस्क का अल्टीमेटम और अब सैकड़ों इस्तीफे… ट्विटर को आखिर बंद करने पड़े ऑफिस

Twitter Shuts Offices : एलन मस्क (Elon Musk) ने बुधवार को ट्विटर (Twitter) के कर्मचारियों को ‘अल्टीमेटम’ देते हुए कहा कि वे या तो कंपनी के नए ‘हार्डकोर वर्क’ वातावरण को अपनाएं और या फिर कंपनी छोड़ दें. ऐसे में सैकड़ों कर्मचारियों ने कंपनी को छोड़ने का फैसला लिया और इस्तीफा दे दिया. मस्क के अल्टीमेटम और इस्तीफों के बाद अब ट्विटर के लिए कई परेशानियां बढ़ गई हैं. सूत्रों के अनुसार यहा दावा किया जा रहा है कि ट्विटर ने अपने कार्यालयों को बंद कर दिया है.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, इस्तीफों के बाद अब ट्विटर ने सोमवार तक अपने कार्यालय बंद कर दिए. जानकारी के  मुताबिक, कंपनी के एक मेमो में कहा गया, “कृपया सोशल मीडिया, प्रेस या अन्य जगहों पर गोपनीय जानकारी पर चर्चा करने से परहेज करके कंपनी की नीति का पालन करना जारी रखें.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एलन मस्क ने अपनी समय सीमा से पहले अंतिम घंटों में लोगों को रहने के लिए मनाने की कोशिश की थी. मामले से परिचित लोगों के अनुसार, सोशल नेटवर्क के भविष्य पर चर्चा करने के लिए गुरुवार की शाम की समय सीमा समाप्त होने पर प्रमुख कर्मचारियों को बैठकों में लाया गया. वहीं मस्क ने गुरुवार को एक ईमेल भेजा.

ईमेल में मस्क ने क्या लिखा?

उन्होंने लिखा, “अप्रूवल के लिए जो कुछ आवश्यक है वह यह है कि आपका प्रबंधक यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी लेता है कि आप एक उत्कृष्ट योगदान दे रहे हैं. कर्मचारियों को अपने सहयोगियों के साथ प्रति माह कम से कम एक बार इन-पर्सन मीटिंग करनी होगी.”

अब ट्विटर के सामने कई परेशानियां

ब्लूमबर्ग ने मामले से परिचित लोगों के हवाले से बताया कि प्रस्थान करने वाले कुछ कर्मचारियों ने अनुमान लगाया कि उत्पाद कैसे काम करता है, इसके बारे में उनके ज्ञान के साथ-साथ इतने सारे लोग जा रहे थे कि सोशल नेटवर्क को अपने सामान्य संचालन के दौरान समस्याओं को ठीक करने या सिस्टम को अपडेट करने में परेशानी हो सकती है. परिचित लोगों ने पहले कहा कि अमेरिकी सरकार भी मस्क के सौदे की संभावित राष्ट्रीय सुरक्षा समीक्षा करेगी, जिससे ट्विटर का भविष्य भी जटिल है.

मस्क का अल्टीमेटम

मस्क ने बुधवार को कर्मचारियों से औपचारिक रूप से यह बताने के लिए कहा था कि क्या वे कंपनी में काम करना जारी रखना चाहते हैं. कर्मचारियों को एक गूगल फॉर्म भरना था. फॉर्म में केवल एक संभावित प्रतिक्रिया शामिल थी- ‘हां’. जो कोई भी समय सीमा तक फॉर्म स्वीकार करने में विफल रहा उसे तीन महीने के वेतन के साथ कंपनी से निकाल दिया जाएगा.