प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बोले- संविधान हमारे लिए एक जश्न होना चाहिए, जानिए अमित शाह से लेकर सीएम योगी ने क्या कहा?

भारतीय संविधान के इतिहास में 26 नवंबर 1949 दिन बहुत खास है. देश में आज ही के दिन संविधान को अपनाया गया और फिर 26 जनवरी 1950 को इसे लागू किया गया था. भारत सरकार  ने बाबासाहेब अम्बेडकर के योगदान का सम्मान करने और संविधान के महत्व का प्रचार करने के लिए 2015 से इस दिन को संविधान दिवस  के रूप में मनाना शुरू किया था. इस अवसर पर पीएम नरेन्द्र मोदी  ने एक वीडियो जारी कर कहा कि आज संविधान दिवस पर हम उन महान लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं, जिन्होंने हमें हमारा संविधान दिया और हम हमारे राष्ट्र के लिए उनके दृष्टिकोण को पूरा करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि, हमारा संविधान उन अनेक धाराओं का संग्रह नहीं है. हमारा संविधान भारत की महान परंपरा, अखंड धारा, उस धारा की आधुनिक अभिव्यक्ति है. संविधान हमारे लिए एक जश्न होना चाहिए, संविधान के प्रति हमारा आदर-सत्कार पीढ़ियों तक चलता रहना चाहिए. उन्होंने कहा कि हमें संविधान दिवस इसलिए भी मनाना चाहिए ताकि हम जो कुछ भी कर रहे हैं, वो संविधान के प्रकाश में सही है कि गलत है. हर साल संविधान दिवस मनाकर हमको मूल्यांकन करना ही चाहिए.

अमित शाह ने संविधान को बताया लोकतंत्र की प्राणशक्ति

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस अवसर पर कहा कि संविधान भारतीय लोकतंत्र की प्राणशक्ति है, जो न सिर्फ हर नागरिक को समान अधिकार देता है बल्कि उन अधिकारों की रक्षा कर उन्हें आगे बढ़ने का अवसर भी देता है. उन्होंने कहा कि संविधान को बनाने में अपना योगदान देने वाले सभी महानुभावों को वह नमन करते हैं और देशवासियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं देते हैं.

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने भी संविधान दिवस पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि संविधान हमारा मार्गदर्शक है, सुनहरे भविष्य का आधार है. उन्होंने कहा कि यह 130 करोड़ नागरिकों की आशाएं-अपेक्षाएं पूरी करने का माध्यम है, संविधान आदर्श मूल्यों को प्रोत्साहित कर न्याय, स्वतंत्रता, समानता सुनिश्चित करता है, हम संविधान को नमन करते हैं.

गडकरी और नड्डा ने क्या कहा?

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि, भारतीय संविधान हमारे लोकतंत्र की आत्मा है. उन्होंने संविधान दिवस के अवसर पर देश को प्रगतिशील संविधान देने वाले बाबासाहेब आंबेडकर समेत सभी देशभक्तों को नमन करते हुए, कहा कि, संविधान दिवस और राष्ट्रीय कानून दिवस की शुभकामनाएं. उनके अलावा भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी संविधान दिवस पर देशवासियों को शुभकानाएं दीं. नड्डा ने कहा कि संविधान दिवस भारत के लोकतंत्र की एकता, अखंडता और प्रगतिशीलता का आधार ग्रंथ हमारे संविधान को समर्पित है. अमृतकाल में आज हमारा देश ‘पंच प्रण’ को आत्मसात करने के संकल्प के साथ ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की दिशा में तेजी से अग्रसर है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने भी संविधान दिवस पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दीं. सीएम योगी ने कहा कि उन सभी महान विभूतियों को नमन, जिन्होंने समता, बंधुत्व और अंत्योदय की भावना से दीप्त सर्वसमावेशी संविधान के निर्माण में अपना योगदान दिया हैं. और इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, भारतीय संविधान ने देश की उन्नति और समृद्धि का जो मार्ग प्रशस्त किया है, उसका अनुसरण करते हुए भारत को समर्थ, शक्तिशाली और आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर भारतवासी को प्रयास करने की जरूरत है. आज का दिन हमें उसी संकल्प की याद दिलाता है.