यूपी के विकास के लिए योगी सरकार ने पेश किया अनुपूरक बजट, पिछले साल भी 8 हजार 479 करोड़ का खोला था पिटारा

Yogi Government: उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य विधानमण्डल के शीतकालीन सत्र के पहले दिन वित्त वर्ष 2022—23 का अनुपूरक बजट सदन में पेश कर दिया है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिये 3376954.67 लाख रुपये की अनुपूरक अनुदान की मांगों को सदन में पेश किया है।

इस बजट में 1375684.28 लाख रुपये के राजस्व लेखे और 2001270.39 लाख रुपये के पूंजी लेखे शामिल हैं। इसके पूर्व, सदन में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर सत्तापक्ष और विपक्ष के विभिन्न सदस्यों ने शोक व्यक्त किया। अनुपूरक बजट पेश करने के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिये स्थगित कर दी गयी है।

पिछले साल भी 8 हजार 479 करोड़ का खोला था पिटारा

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले साल सदन में 8 हजार 479 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया था। योगी सरकार ने उस बजट में किसानों और युवाओं पर खास फोकस किया था। वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने अपने भाषण में कहा था कि 2022-2023 में 5,44,836.56 करोड़ रुपये की प्राप्तियां होंगी, जिसमें 4,53,097.56 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्तियां, 91,739 करोड़ रुपये की पूंजी लेखे की प्राप्तियां, जिसमें 89,174 करोड़ रुपये की लोक ऋणों से प्राप्तियां और 2,565 करोड़ रुपये की ऋणों और अग्रिमों की वसूली से होने वाली प्राप्तियां सम्मिलित हैं।

बता दें, सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहले चार महीनों (अप्रैल से जुलाई) के लिए 1,68,903.23 करोड़ रुपये का लेखानुदान भी विधानसभा में प्रस्तुत किया था। दूसरे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे को लेकर जमकर हंगामा किया था, जिसके कारण सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया था।