सुप्रीम कोर्ट ने जनहित याचिका को किया खारिज, नहीं बढ़ेगी न्यायाधीशों की रिटायरमेंट उम्र

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सभी स्टेट हाई कोर्ट जज की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने की जनहित याचिका को खारिज कर दिया है। एमएम कृष्णा ने यह याचिका दायर की थी। उनकी मांग है कि सभी स्टेट के हाई कोर्ट जजों की रिटायरमेंट आयु 3 साल बढ़ा देनी चाहिए। बता दें कि वर्तमान में 62 की उम्र में सभी स्टेट न्यायाधीश रिटायर हो जाते हैं, लेकिन इसकी उम्र 65 करने लिए जनहित याचिका दायर की गई थी।

पिछले दिनों कई खबरें चली थी कि केंद्र सरकार हाइकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में तैनात जजों की उम्र बढ़ाने की तरफ विचार कर रही है। सुप्रीम कोर्ट के जजों की 65 और हाईकोर्ट के जजों की 62 रिटारयमेंट उम्र पर अभी तक कोई फैसला भी नहीं आया।

आपको बता दें कि हमारे में देश में प्रत्येक दिन कोई ना कोई जुर्म होता है। ऐसे में सभी कोर्ट में केस की तादाद काफी ज्यादा है और जजों की संख्या कम हैं। इसको ध्यान में रखते हुए ये मांग की जा रही है।