हर तरफ हो रहीं एनआरसी कि मांग

बांग्लादेशी घुसपैठ आज भारत में एक बैठ बड़ी समस्या बन चुके है और ये देखने में आ रहा है की केंद्र और राज्य सरकार इस पर धीरे -धीरे सख्त हो रहीं है | यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी एनआरसी कि मांग कि थी | उन्होंने ने ये भी कहा था कि एनआरसी एक महत्यपूर्ण कदम है इससे देश कि आंतरिक सुरक्षा मजबूत होगी | इस बीच झारखण्ड की मुख्य मंत्री रघुवर दस ने कहा कि उनकी सरकार केंद्र के सामने असम कि तरह झारखण्ड में भी बांग्लादेशी घुसपैठियों कि समस्या से निपटने के लिए नागरिक सूची अपडेट करने का प्रस्ताव रखेगी | झारखण्ड राज्य सरकार का यह मानना है कि एनआरसी लागू होने से अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों कि पहचान होगी जिससे उन झारखण्ड से आसानी से निकाला जा सकेगा | इसके अलावा मणिपुर के सीएम यन बीरेन सिंह ने भी एनआरसी कि मांग कि थी , पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप गोष ने भी कहा था कि अगर 2021 विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी सत्ता में आती है तो वह बंगाल में भी एनआरसी लेकर आएगी | दिल्ली में बीजीपी अध्यक्ष मनोज तिवारी भी दिल्ली में एनआरसी लागू करने कि मांग कर रहे है | इन सबके बीच अब यह देखना होगा कि सरकार इसपर क्या प्रतिक्रिया देती है |