‘हर धमाके में मिल रहे हैं TMC नेता के नाम, अपने पर ही कर रहे थे टेस्ट’- दिलीप घोष ने कसा तंज

पश्चिम बंगाल में टीएमसी के महासचिव अभिषेक बनर्जी की सभा से ठीक पहले भूपतिनगर में तृणमूल नेता के घर  बम धमाके में तृणमूल नेता समेत तीन लोगों की मौत को लेकर बंगाल की राजनीति में हलचल मच गयी है. इस घटना को लेकर बीजेपी के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने तृणमूल पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, ”जहां देखो, तृणमूल नेता के घर में विस्फोट हो रहे हैं. या ब्लास्ट की घटना में तृणमूल नेता का नाम जुड़ रहे हैं. पंचायत के मुखिया से लेकर विधायक के नाम आ रहे हैं. वे असामाजिक गितिविधियों से जुड़े है. उनसे इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं की जा सकती है.”

हम आपको बता दे कि, कांथी में अभिषेक बनर्जी की सभा से पहले भूपतिनगर में तृणमूल बूथ अध्यक्ष राजकुमार मन्ना के घर में बम विस्फोट हुआ. विस्फोट की चपेट में आने से पूरा घर क्षतिग्रस्त हो गया.  सूत्रों के मुताबिक, विस्फोट में तीन लोगों की मौत हुई है.

वही, पुलिस विस्फोट स्थल पर दिखाई नहीं दी. प्रशासन की भूमिका पर सवाल उठ रहा है. राज्य के अलग-अलग हिस्सों से एक के बाद एक बम बरामद हो रहे हैं. भागंडड, नानूर से भारी मात्रा में हथियार और बम बरामद किए गए हैं. वही, शुभेंदु अधिकारी ने ट्वीट किया, “पूर्व मेदिनीपुर जिले के भगवानपुर द्वितीय ब्लॉक के भूपतिनगर में टीएमसी नेता के घर में विस्फोट होने से 3 की मौत हो गई और 2 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए. टीएमसी नेता राजकुमार मन्ना अपने घर पर बम बना रहे थे, तभी यह जोरदार धमाका हुआ है. मैं एनआईए जांच की मांग करता हूं. ” उन्होंने आगे लिखा, “टीएमसी बूथ के अध्यक्ष राजकुमार और 2 अन्य लोगों की कल शाम तत्काल बम बनाते समय मृत्यु हो गई, क्योंकि इन बमों को कांथी में फेंकने का इरादा था. बम पश्चिम बंगाल के सबसे सफल कुटीर उद्योग उत्पाद हैं और पूरे बंगाल में टीएमसी नेताओं के घरों में व्यापक रूप से उत्पादित किए जाते हैं.”

बता दे की, पश्चिम बंगाल में अगले साल पंचायत चुनाव हैं. पंचायत चुनाव के पहले राज्य में हिंसक वारदात की घटनाएं बढ़ गयी हैं. इसी सप्ताह दक्षिण 24 परगना के काशीपुर इलाके से भारी मात्रा में बम और बारूद बरामद हुए थे. पुलिस ने इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार की थी. अब पूर्व मिदनापुर में विस्फोट की घटना से चुनाव के दौरान हिंसा की आशंका बढ़ गयी है.