10 राज्यों में अगले तीन दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी, इन इलाकों में बाढ़ का अलर्ट

बारिश ने रफ्तार पकड़ रखी है, जिसके चलते पूरे भारत में मानसून के दूसरे चरण में झमाझम बारिश का दौर है, कई राज्यों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है।बारिश के चलते नदियां पूरे उफान पर हैं. विभिन्न नदियों के रौद्र रूप ने नागरिकों के लिए चिंता बढ़ा दी है। शहर टापू बन चुके हैं और नदियां समंदर. बारिश आई तो अपने साथ तबाही भी लेकर आई। इस बीच भारतीय मौसम विभाग (IMD) की ओर से 10 राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी व इन इलाकों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है।

इन राज्यों में बारिश की चेतावनी

 पूरे भारत में मानसून के दूसरे चरण की बारिश के बीच भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने देश के 10 राज्यों में 4 दिन तक यानी 20 अगस्त तक के लिए भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के मुताबिक गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, बिहार, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश हो सकती है। इस भरी बारिश के कारण तापमान में तीन से चार डिग्री तक की गिरावट आएगी।’

नर्मदा, चंबल, बेतवा नदियां उफान पर

लगातार हो रही बारिश से नर्मदा, चंबल और बेतवा समेत अधिकांश नदियां उफान पर हैं. लोगों को अलर्ट किया जा रहा है. अभी दिनों तक ये मुसीबत कम नहीं होने वाली है. जबलपुर, भोपाल और इंदौर में भारी से भारी बारिश का पूर्वानुमान है. भोपाल के आसपास के जिलों रायसेन, विदिशा और सीहोर में भारी बारिश का अलर्ट है।

मध्यप्रदेश के इन जिलों में बाढ़ का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश के गुना, राजगढ़, आगर मालवा, रतलाम, नीमच और मंदसौर जिलों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया है। लोगों से सावधानी बरतने के लिए कहा गया है।

गंगा के तटीय इलाकों में बाढ़ का खतरा

गंगा यमुना का जलस्तर तेजी से बढ़ने के कारण कछारी इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। गंगा-यमुना का जलस्तर चार-चार सेंटीमीटर प्रति घंटा की गति से बढ़ रहा था। ऐसे में अगले तीन-चार दिन तक गंगा-यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ने की संभावना के कारण प्रशासन ने अलर्ट होकर तैयारी तेज कर दी है।

उत्तर और दक्षिणी गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश

उत्तर और दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हुई और तापी, बनासकांठा और वलसाड जिलों में सुबह से 12 घंटे में 100 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई।  मध्य प्रदेश में ओंकारेश्वर और इंदिरा बांधों से भी पानी छोड़ा गया. दिन के दौरान 30 से अधिक तहसीलों में 50 मिमी से अधिक बारिश हुई. मुख्य रूप से तापी,  बनासकांठा, वलसाड, छोटा उदयपुर, नवसारी, मेहसाणा, डांग, अरावली, सूरत, महिसागर और पाटन जिलों में बरसात हुई. ।

ओडिशा में बाढ़ का अलर्ट

ओडिशा में महानदी उफान पर है। 10 जिलों में बारिश का हाई अलर्ट है. अधिकारियों की छुट्टियां रद्द हो चुकी हैं। राज्य के  करीब 10 जिले अलर्ट पर हैं, जहां बाढ़ के हालात बने हुए हैं. महानदी ने रौद्र रूप ले लिया है. मंदिर के ऊपर तक नदी का पानी आ गया है।