12 हजार लड़कियों को मिलेगी रोजगार : मंत्री सत्यानंद भोक्ता

रांची: झारखंड की 12 हजार महिलाओं को कोयंबटूर के कॉटन मिल में नौकरी देने के लिए किए गए एमओयू के दौरान मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने बताया कि विभाग के समाधान पोर्टल पर नियोजन कराने वाली महिलाओं को ही कोयंबटूर में नौकरी मिलेगी। उन्होंने केपीआर मिल के अधिकारियों से कहा कि महिलाओं की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाए। वे खुद भी कंपनी में जाकर वस्तुस्थिति से रूबरू होंगे। महिलाओं को श्रम कानून के तहत नौकरी दी जा रही है। वेतन के अलावा पहले दिन से पीएफ और ईएसआई कवर होगा। एमओयू की इन तमाम शर्तों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए कल्याण अधिकारी भी कंपनी में नियुक्त होंगे। श्रम विभाग का कंट्रोल रूम इनके संपर्क में रहेगा ताकि किसी तरह की परेशानी का तत्काल समाधान किया जा सके। यह कंपनी माइग्रेंट एक्ट में रजिस्टर्ड है। दुर्घटना बीमा, चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी।

उन्होंने कहा कि केपीआर में काम करके विवाह के लिए वापस लौटने वाले युवतियों को कन्याधन योजना के तहत 30 हजार रुपए उनके खाते में उपलब्ध कराया जाएगा। अन्य योजनाओं का भी लाभ दिया जाएगा।कैंप लगाकर होगी भर्ती, बेहतर काम पर प्रोत्साहन भी: केपीआर के प्रेसिडेंट पी रंगनाथन ने कहा कि कंपनी में महिलाओं को धागा काटने, लेंगिंग के लिए कपड़ा बनाने और रेडीमेट गार्मेंट तैयार करने के काम में लगाया जाएगा। यहां प्रतिदिन 1.25 लाख पीस कपड़े के बनते हैं। बेहतर काम करने वाली महिलाओं को प्रोत्साहन राशि और प्रोन्नति भी दी जाएगी। कंपनी में 22 हजार कर्मी काम कर रहे हैं। इस समय झारखंड के 500 कर्मी काम कर भी रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहला बैच करीब 500 से 1000 महिलाओं का मार्च पहले हफ्ते में कोयंबटूर ले जाया जाएगा। नियुक्ति के लिए 26 फरवरी से राज्य के विभिन्न कौशल विकास केंद्रों पर भर्ती कैंप लगाया जाएगा। कंपनी ने एक साल में पूरे झारखंड से 10 से 12 हजार नियुक्तियों का लक्ष्य रखा है।

The lower efficacy of three separate bones called bones and joints via nerves from cn v2 orbital branches ; the blood and passes through the ureteral orifice. cialis malaysia pharmacy Loop of d the tcas are shown in figure For example, it is also bene cial.