15 July 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

  1. पीएम मोदी ने वाराणसी को दिया ‘रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर’ का तोहफा, मोदी ने किया रुद्राक्ष का पौधारोपण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी के दौरे पर हैं.इसी कड़ी में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के सहयोग से बने अंतरराष्ट्रीय सहयोग एवं सम्मेलन केंद्र ‘रुद्राक्ष’ का उदघाटन किया. इस दौरान पीएम मोदी के साथ जापान के प्रतिनिधि भी मौजूद थे. ‘रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर’  में पहुंचते ही सबसे पहले प्रधानमंत्री ने परिसर में एक पौधा लगाया. इस दौरान प्रधानमंत्री ने रुद्राक्ष का एक पौधा लगाया.  इसके बाद प्रधानमंत्री ने शिलापट्ट का अनावरण कर रुद्राक्ष को देश को समर्पित किया. कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे.

  1. यमुना में प्रदूषण का स्तर सबसे खराब : यूपीपीसीबी

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) के आंकड़ों से पता चलता है कि इस साल यमुना में प्रदूषण का स्तर और खराब हो गया है. यूपीपीसीबी की रिपोर्ट में औद्योगिक अपशिष्ट जैसे कठोर धातुओं की मात्रा, पारा, आर्सेनिक, सीसा, आदि के आंकड़ों का उल्लेख नहीं है। राज्य प्रदूषण निकाय ने बुनियादी मानकों पर पानी का परीक्षण किया है। जिसमें भंग ऑक्सीजन और जैव रासायनिक ऑक्सीजन मांग (बीओडी) ) और प्रदूषण का स्तर बहुत अधिक पाया गया।

  1. कार्यालयों में मच्छरों को पनपने से रोकने के लिए नोडल अधिकारी नामित किए जाएं : एसडीएमसी

दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने लोक निर्माण विभाग, दिल्ली विकास प्राधिकरण और दिल्ली मेट्रो रेल निगम जैसी एजेंसियों एवं विभिन्न सरकारी विभागों के प्रमुखों से अपने कार्यालय परिसरों में मच्छरों को पनपने से रोकने लिए नोडल अधिकारी नामित करने को कहा है जिससे कि मच्छरों से पैदा होने वाली बीमारियों को रोका जा सके। निगम के अधिकारियों ने मच्छरों से होने वाली डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों से बचाव एवं नियंत्रण पर एक परामर्श जारी किया है।

  1. चीन ने अंतरिक्ष में उगाया धान, सोशल मीडिया यूजर्स ने बताया स्वर्ग का चावल

चीन ने अंतरिक्ष में धान पैदा करने का नया करिश्मा किया है. चीन ने अंतरिक्ष में पैदा किए गए धान को स्पेस राइस नाम दिया है. चीन इसकी पहली फसल को बीज के रूप में धरती पर लाया है. चीन ने पिछले साल नंवबर में अपने चंद्रयान के साथ धान के बीज भी अंतरिक्ष में भेजे थे. अब अंतरिक्ष यान के जरिए 1500 धान के बीज धरती पर आए हैं. इनका वजन 40 ग्राम है. इनको अब दक्षिण चीन कृषि विश्वविद्यालय परिसर में बोया जाएगा.

  1. मध्य प्रदेश: निजी भूमि पर पौधारोपण कानून बनाने से पहले शिवराज सरकार जनता से लेगी राय

निजी भूमि पर पौधारोपण को प्रोत्साहन करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार कानून बना रही है। इसका प्रारूप तैयार हो चुका है जिस पर अब जनता से राय ली जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने कानून का मसौदा रखा गया। उन्होंने पर्यावरणविदों, वन विशेषज्ञों, जनजातीय जीवन, राजस्व विभाग के विशेषज्ञों सहित जनसामान्य और किसानों से सुझाव लेने के निर्देश दिए हैं।

  1. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा- शुरुआती दौर में आ चुकी है कोरोना की तीसरी लहर, संक्रमण के मामले बढ़ने की दी चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर शुरुआती चरण में आ चुका है. WHO के प्रमुख टेड्रोस अदहानोम गेब्रेयेसस ने विश्वभर में संक्रमण के मामले और मौतों की संख्या एक बार फिर से बढ़ने को लेकर चेतावनी देते हुए कहा कि तीसरी लहर अपने शुरुआती चरण में है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस वायरस निरंतर अपने रूप बदल रहा है और इसके परिणामस्वरूप अधिक संक्रामक रूप सामने आ रहे हैं.

  1. धरती से जब टकराया था ऐस्‍टरॉइड, 1600 मीटर तक उठी सुनामी और खत्‍म हो गए डायनासोर

एक ताजा शोध में कहा गया है कि 6.6 करोड़ साल पहले उत्‍तरी अमेरिका में धरती से एक विशाल ऐस्‍टरॉइड टकराया था जिससे समुद्र के अंदर करीब 1600 मीटर तक ऊंची सुनामी उठी थी. इसी सुनामी की चपेट में आकर डायनासोर इस पृथ्वी से हमेशा के लिए अलविदा कह गए. यूनिवर्सिटी ऑफ लुइसियाना के शोधकर्ताओं ने अवशेष का रूप ले चुकी लहरों की रेत के शोध के आधार पर यह जानकारी दी है.

  1. कोरोना के 41 हजार से ज्यादा नए मरीज आए

भारत में कोरोना संक्रमण का कहर अब दूसरे देशों की तुलना में कम है. हर दिन करीब 40 हजार नए लोग संक्रमित हो रहे हैं. गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 41,806 नए कोरोना केस आए और 581 संक्रमितों की जान चली गई है. वहीं पिछले 24 घंटे में 39,130 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. देश में 4 लाख 32 हजार लोग अभी भी कोरोना संक्रमित हैं, जिनका इलाज चल रहा है.

  1. कश्मीर में वायु गुणवत्ता और प्रदूषण की पल-पल मिलेगी जानकारी, पहला सीएएक्यूएमएस क्रियाशील हुआ

कश्मीर में अब वायु प्रदूषण और वायु की गुणवत्ता की पल-पल जानकारी मिलेगी। जम्मू कश्मीर में अपनी तरह का पहला CAAQMS (वायु गुणवत्ता की लगातार निगरानी करने वाला स्टेशन) श्रीनगर में तैयार हो गया है। CAAQMS की स्थापना से अब देश के किसी भी कोने में बैठा कोई भी व्यक्ति किसी भी समय श्रीनगर शहर की वायु गुणवत्ता की आनलाइन जानकारी प्राप्त कर सकेगा।

  1. भारी बारिश बनी आफत, नदी में जा गिरी भारी-भरकम पोकलेन मशीन

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई इलाकों में लैंडस्लाइड हो रही है. हिमाचल सरकार ने भूस्खलन और बाढ़ के चलते लोगों को यात्राएं स्थगित करने के लिए कहा है. मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. हिमाचल में कुदरती कहर की रोज नई तस्वीरें सामने आ रही हैं, इसी कड़ी में चांबा में सड़क निर्माण कार्य में लगी पोकलेन मशीन भूस्खलन की जद में आने से रावी नदी में जा गिरी. हादसे के वक्त मशीन में कोई सवार नहीं था.

Source: Different News Website