17 June 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

1.नेपाल ने छोड़ा पानी, नदियां खतरे के निशान के पार, डूबे यूपी-बिहार के कई गांव, रेड अलर्ट जारी

भारी बारिश के बाद नेपाल द्वारा बड़ी मात्रा में पानी छोड़े जाने से यूपी-बिहार के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है. कई जिलों में प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है. यूपी के महराजगंज में पिछले 3 दिन से मॉनसूनी बारिश ने जिले में बाढ़ का कहर दिखाना शुरू कर दिया है. इसी बीच नेपाल ने बुधवार को बड़ी गंडक नदी में 4 लाख 12 हजार क्यूसेक पानी डिस्चार्ज कर दिया, इसकी वजह से बाल्मिकीनगर में सिंचाई के लिए गंडक नदी पर बनाए गए बैराज के सभी 36 फाटक खोलने पड़े. गंडक नदी तेजी के साथ खतरे के निशान की तरफ बढ़ रही है. इससे देख सिंचाई विभाग के बाढ़ खंड को हाई अलर्ट कर पर कर दिया गया है. मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने भी इसको लेकर बैठक की है.

  1. दिल्ली के कई इलाकों में भारी बारिश, लोगों को उमस से मिली राहत

दिल्ली में गुरुवार को सेंट्रल दिल्ली के हनुमान रोड, तालकटोरा रोड व आसपास के कई इलाकों में भारी बारिश हुई. भारी बारिश के बाद राजधानी के लोगों को उमस व गर्मी से राहत मिली. इससे पहले मौसम विभाग की तरफ से आज के लिए गरज के साथ बारिश का अनुमान जताया गया था. इससे पहले बुधवार को भी दिल्ली के कई हिस्सों में हल्की बारिश हुई थी. इस पूरे हफ्ते तापमान 38 से 39 डिग्री के आसपास बना रहेगा. दिल्लीवासियों को मानसून की बारिश के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। ये जानकारी भारत मौसम विज्ञान विभाग ने दी है. मौसम विभाग का कहना है कि पछुआ हवाओं के कारण उत्तर-पश्चिम भारत में मानसून के पहुंचने की गति प्रभावित हुई है.

3.दुनिया को मिला पांचवां महासागर, नाम है साउदर्न महासागर

धरती को उसका पांचवां महासागर मिल गया है. बता दें कि महासागर तो पहले से था लेकिन उसे अब पांचवें महासागर की मान्यता मिल गई है. यह मान्यता नेशनल जियोग्राफिक सोसाइटी ने दी है. पांचवें महासागर का नाम साउदर्न महासागर है. यह अंटार्कटिका में है. इससे पहले धरती पर चार महासागर थे…अंटलांटिक, प्रशांत, हिंद और आर्कटिक महासागर. अब इसमें साउदर्न महासागर का नाम भी जुड़ गया है.

  1. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गहरे समुद्र मिशन को मंजूरी प्रदान की, जावड़ेकर ने गिनाए फायदे

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ‘गहरे समुद्र मिशन’ को मंजूरी प्रदान कर दी. इस मंजूरी के बाद समुद्री संसाधनों की खोज और समुद्री प्रौद्योगिकी के विकास में मदद मिलेगी. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह जानकारी दी. मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि गहरे समुद्र के तले एक अलग ही दुनिया है. पृथ्वी का 70 प्रतिशत हिस्सा समुद्र है. उसके बारे में अभी बहुत अध्ययन नहीं हुआ है. ‘‘गहरे समुद्र संबंधी मिशन’’ को मंजूरी प्रदान कर दी है. इससे एक तरफ ब्लू इकोनॉमी को मजबूती मिलेगी साथ ही समुद्री संसाधनों की खोज और समुद्री प्रौद्योगिकी के विकास में मदद मिलेगी.

  1. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लगाया नीम का पौधा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसी दिन भी पौधारोपण की परंपरा को नहीं भूलते है. उन्होंने आज भी मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के स्मार्ट पार्क में पौधरोपण किया है. आज उन्होंने “आकाश नीम का पौधा” लगाया है. शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट क़रते हुए लिखा आज मैंने भोपाल स्थित स्मार्ट सिटी पार्क में आकाश नीम का पौधा रोपा। आकाश नीम का आयुर्वेदिक और चिकित्सकीय महत्व है। यह कई प्रकार के बैक्टीरिया से बचाव में सक्षम है। इसके पेड़ से गिरने वाले पत्ते अपने औषधीय गुणों के चलते मच्छर के लारवा को पनपने नहीं देते हैं।

  1. दिल्ली में घनी आबादी, उमस और वायु प्रदूषण से आक्रामक हुआ कोरोना

एक रिपोर्ट के मुताबिक, घनी आबादी के अलावा उमस और वायु प्रदूषण ने भी दिल्ली में कोरोना महामारी को बढ़ावा दिया। यही वजह है कि पिछले साल राजधानी ने संक्रमण की तीन-तीन बार लहर का सामना किया। इस तथ्य को साबित करने के लिए पहली बार दो अलग अलग चिकित्सीय अध्ययन सामने आए हैं। इनमें से एक मालवीय नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी जयपुर के शोद्यार्थियों का है। जबकि दूसरा अध्ययन हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी का है। मेडिकल जर्नल मेडरेक्सिव में प्रकाशित दोनों अध्ययन में यह साबित हुआ है कि वायु प्रदूषण के मामले में सबसे गंभीर राष्ट्रीय राजधानी में पीएम2.5, पीएम10, एसओ2, एनओ2, ओ3 और कार्बन डाई ऑक्साइड महामारी के प्रसारित होने में सहायक रहा है.

  1. पुणे के इस स्टार्ट-अप ने तैयार किया पर्यावरण के अनुकूल हैंड सैनिटाइजर, हाथों को रखेगा मुलायम

जल्द ही बाजार में पर्यावरण अनुकूल एक सैनिटाइजर उपल्बध होगा जो हाथों को बेहद मुलायम बना कर रखेगा और लंबे समय तक चलेगा. दरअसल, पुणे में स्थित एक स्टार्ट-अप इस प्रकार के नए सैनिटाइजर को बाजार में लाने के लिए पूरी तरह तैयार है. रिपोर्ट के मुताबिक, यह पर्यावरण के अनुकूल हैंड सैनिटाइजर होगा, जो हाथों की कोमलता को बरकरार रखेगा और जल्द उन्हें सुखाने का कार्य करेगा. अल्कोहल मुक्त इस सैनिटाइजर को सिल्वर नैनोपार्टिकल्स (Silver Nano-particles) एक स्टार्ट-अप द्वारा विकसित किया गया है.

  1. कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में 67 हजार नए मामले आए, 2330 की गई जान

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में  67,208 नए कोरोना केस आए और 2330 संक्रमितों की जान चली गई है. बीते दिन 1 लाख 3 हजार 570 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं यानी कि कल 38,692 एक्टिव केस कम हो गए. इससे पहले मंगलवार को 62,224 केस दर्ज किए गए थे. कुल कोरोना केस- दो करोड़ 97 लाख 313,कुल डिस्चार्ज- दो करोड़ 84 लाख 91 हजार 670,कुल एक्टिव केस- 8 लाख 26 हजार 740,कुल मौत- 3 लाख 81 हजार 903

  1. ”दिल्ली में अक्टूबर से जनवरी के बीच दर्ज वायु प्रदूषण में 7 फीसद हिस्सेदारी तापीय बिजली घरों की”

एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि दिल्ली में अक्टूबर 2020 से जनवरी 2021 के बीच दर्ज किए गए वायु प्रदूषण में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित कोयला आधारित 11 तापीय बिजली घरों की हिस्सेदारी सात प्रतिशत थी, जबकि इसमें (वायु प्रदूषण में) वाहनों से निकलने वाले प्रदूषकों की हिस्सेदारी 14 प्रतिशत रही। पीएम2.5 प्रदूषकों को लेकर एक नए अध्ययन में इस बात का दावा किया गया है. अध्ययन का निष्कर्ष इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि दिल्ली सरकार ने हाल ही में उच्चतम न्यायालय से शहर में स्थित उन तापीय बिजली घरों को बंद करने संबंध निर्देश देने को कहा है जो पुरानी, प्रदूषण फैलाने वाली तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। अध्ययन करने वाली दिल्ली स्थित गैर लाभकारी संस्था काउंसिल ऑन एनर्जी, एन्वायरमेंट एंड वाटर (सीईईडब्ल्यू) है.

  1. नोवावैक्स वैक्सीन का वयस्कों पर प्रभावी असर देखने के बाद अब बच्चों पर जुलाई में परीक्षण कर सकती है सीरम इंस्टीट्यूट

ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन का भारत में एस्ट्राजेनिका के सहयोग से तैयार कर रही पुणे स्थित देश की सबसे बड़ी दवा निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट की योजना अब नोवावैक्स वैक्सीन का बच्चों पर ट्रायल करने की है. समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि जुलाई के महीने में सीरम इंस्टीट्यूट नोवावैक्स वैक्सीन का बच्चों के ऊपर परीक्षण कर सकती है. इसके साथ ही,  सीरम इंस्टीट्यूट देश में सितंबर तक अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स की कोरोना वैक्सीन के आने की उम्मीद कर रही है.

Source: Different News sources