19 June 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

1.पौधारोपण करके मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन, पौधरोपण कार्यक्रम के तहत लगाए जाएंगे 50,000 पौधे

मथुरा में राजीव गांधी पंचायती राज संगठन ने गोवर्धन विधानसभा क्षेत्र में नगला माना स्थित कैंप कार्यालय पर वृहद पौधारोपण करके राहुल गांधी का जन्मदिवस मनाया. इसके साथ ही राहुल गांधी के जन्मदिन को राजधानी भोपाल में सेवा दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर कांग्रेसजनों ने शहर के विभिन्न अस्पतालों में जरूरत के अनुसार स्ट्रेचर दान किए। साथ ही यहां पौधारोपण कर बेहतर पर्यावरण के प्रयास को आगे बढ़ाया. राहुल गांधी के जन्मदिवस पर पूरे पश्चिम विधानसभा में शनिवार से सप्ताह भर चलने वाले इस पौधरोपण कार्यक्रम के तहत 50,000 पौधे लगाए जाएंगे.

2.उत्तराखंड: 36 घंटों से लगातार हो रही है मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

उत्तराखंड में पिछले 36 घंटों से लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. लगातार हो रही बारिश की वजह से तमाम नदियों के साथ ही गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर जा पहुंचा है. ऊपरी पहाड़ी जिलों में लगातार बारिश का सिलसिला बना हुआ है तो वहीं, निचले इलाकों में प्रशासन की ओर से गंगा और नदियों के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है. गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. मौसम विभाग ने आने वाले 3 दिनों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. ऋषिकेश में पहाड़ों में लगातार हो रही बारिश के कारण गंगा में सिल्ट की मात्रा काफी अधिक आ रही है जिससे चीला जल विद्युत परियोजना की टरबाइन जाम हो गई है. जिससे चीला जल विद्युत परियोजना में बिजली उत्पादन का कार्य बंद हो गया है.

3.असम में देर रात आया 4.2 तीव्रता का भूकंप का झटका, पूर्वोत्तर में 24 घंटे में चौथा झटका

असम में शनिवार आधी रात के बाद 4.2 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। जान-माल के किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। पूर्वोत्तर के क्षेत्र में 24 घंटे के दौरान यह भूकंप का चौथा झटका रहा. असम में देर रात एक बजकर 7 मिनट पर आए भूकंप का केंद्र तेजपुर से 39 किलोमीटर पश्चिम में जमीन से 30 किलोमीटर की गहराई में रहा। एक दिन पहले ही यहीं सोनितपुर में 4.1 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र तेजपुर से 36 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की तरफ जमीन से 22 किलोमीटर की गहराई में रहा।

4. 100 साल जिंदा रहती है डायनासोर काल की यह रहस्‍यमय मछली, 5 वर्ष तक गर्भवती

‘जिंदा जीवाश्‍म’ कही जाने वाली रहस्‍यमय मछली Coelacanth डायनासोर के काल से ही धरती पर मौजूद है और यह करीब 100 साल तक जिंदा रह सकती है। यही नहीं इस मछली को गर्भवती होने के बाद बच्‍चा देने में 5 साल लग जाते हैं। एक ताजा शोध में इस बेहद खूबसूरत मछली के बारे में खुलासा हुआ है। इसे वर्ष 1930 के दशक के पहले तक विलुप्‍त मान लिया गया था। हालांकि बाद में इसे दक्षिण अफ्रीका के समुद्री तट पर पाया गया। इस अद्भुत मछली के बारे में रहस्‍य यही पर खत्‍म नहीं हो गया क्‍योंकि शोध में पाया गया है कि यह रात के समय भ्रमण करने वाली मछली इंसान के आकार की हो सकती है

5. झारखंड: भूस्खलन के बाद रेलवे ट्रैक पर गिरा पत्थर, नई दिल्ली-रांची राजधानी स्पेशल का इंजन क्षतिग्रस्त, सभी यात्री सुरक्षित

नई दिल्ली से कोडरमा के रास्ते रांची जाने वाली राजधानी स्पेशल ट्रेन शनिवार सुबह बड़े हादसे का शिकार होने से बच गई. बताया जा रहा कि झारखंड के मानपुर-कोडरमा सेक्शन पर भूस्खलन और पत्थर गिरने की घटना हुई, जिससे रेलवे ट्रैक बाधित हो गया. जिस समय ये घटना हुई नई दिल्ली-रांची राजधानी एक्सप्रेस वहां से गुजर रही थी. भूस्खलन के बाद बड़े पत्थरों के ट्रैक पर आने से राजधानी स्पेशल का इंजन क्षतिग्रस्त हुआ है. हालांकि, इस घटना में किसी यात्री को नुकसान नहीं हुआ है लेकिन भूस्खलन की वजह से नई दिल्ली हावड़ा मेन लाइन पर रेल परिचालन पूरी तरह से ठप हो गया है.

6. कुत्ते के हमले से बचने के लिए एक-दूसरे पर चढ़ गईं भेड़ें, दम घुटने से सौ की मौत

यूपी के हरदोई जिले के हरपालपुर थाना क्षेत्र के नेवादा चौगवां गांव में शुक्रवार सुबह करीब सौ भेड़ें मरी पाई गईं। पशु चिकित्साधिकारी ने एक भेड़ का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण दम घुटना बताया गया है। मृत भेड़ों को जेसीबी की मदद से गड्ढा खोद दफन कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक,  रात के समय भेंडो के झुंड में कुत्ते पहुंच गए और कुत्तों के हमले से भेंड़े एक-दूसरे के ऊपर दहशत के चलते इकट्ठी हो गईं, जिससे उनकी दम घुट गई और दहशत की वजह से उन्होंने दम तोड़ दिया।

7. यूपी: 15 महीने, तीन टीम और 50 लाख के खर्च के बाद ऐसे पकड़ी गई एक बाघिन

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में बंद पड़ी एक रबड़ फैक्ट्री में पिछले 15 महीने से एक बाघिन ने ठिकाना बनाया हुआ था. आखिरकार वन्य विभाग की तीन टीम ने एक साल से ज्यादा समय के प्रयास के बाद बाघिन को पकड़ ही लिया. आपको जानकर ताज्जुब होगा, लेकिन इसे पकड़ने में 50 लाख रुपये से ज्यादा का खर्च किया गया है. अच्छी बात यह है कि इतनी मेहनत के बाद बाघिन अपने प्राकृतिक आवास में रह पाएगी और लोग बेखौफ अपने घरों से बाहर निकल सकेंगे.

8. महाराष्ट्र के यवतमाल में 150 करोड़ साल पहले था समुद्र! जीवाश्म की खोज से अंदाजा

महाराष्ट्र के वणी में 150 करोड़ साल पुराना जीवाश्म मिला है. इसे खोजने वाले वैज्ञानिक का दावा है कि यह पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति के समय सागर के उथले गर्म पानी में विकसित हुआ था. महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के वणी में पर्यावरण एवं भूगोल विशेषज्ञ प्रो. सुरेश चोपणे ने इस प्राचीन जीवाश्म को खोजा है. उनका दावा है कि साइनोबैक्टीरिया स्ट्रोमैटोलाइट के जीवाश्म हैं

9.जलवायु परिवर्तन, कचरा प्रबंधन में सहयोग के लिये भारत-भूटान ने सहमति पत्र पर किये हस्ताक्षर

भारत और भूटान ने पर्यावरण के क्षेत्र में सहयोग के लिये एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मंत्री ने ट्वीट किया, “भारत के भूटान के साथ सहजीवी रिश्ते हैं। दोनों देशों ने एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये जिससे जलवायु परिवर्तन, कचरा प्रबंधन आदि के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग के नए रास्ते खुलेंगे।”

10.74 दिनों बाद कोरोना एक्टिव मामले सबसे कम, 24 घंटे में 1647 संक्रमितों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 60,753 नए कोरोना केस आए और 1647 संक्रमितों की जान चली गई है. बीते दिन 97,743 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं यानी कि कल 38,637 एक्टिव केस कम हो गए. इससे पहले गुरुवार को 62,480 नए कोरोना केस दर्ज किए गए थे. कुल कोरोना केस- दो करोड़ 98 लाख 23 हजार 546,कुल डिस्चार्ज- दो करोड़ 86 लाख 78 हजार 390,कुल एक्टिव केस- 7 लाख 60 हजार,कुल मौत- 3 लाख 85 हजार 137

Source: Different News Website