21 जुलाई 2020: झारखंड की दिनभर की बड़ी और मुख्य खबरें, यहां पढ़े…

1.झारखंड में कुल 61 लोगों की मौत, 221 नए मामले

झारखंड में बीते एक दिन में कोरोना संक्रमण के 221 नये मामले सामने आये हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 5 हजार 777 पहुंच गई है. जबकि संक्रमण से मरनेवालों का आंकड़ा 61 तक पहुंच गया. हालांकि, संक्रमण से मौतों का सरकारी आंकड़ा 53(तीरपन) ही बताया जा रहा है. लेकिन राहत की बात ये है कि ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है. देश की तुलना में झारखंड में कोरोना रिकवरी रेट 49.07(उनचास) फीसदी है, जबकि देश में 62.61(बासठ) फीसदी रिकवरी रेट है. वहीं, मृत्यु दर की बात करें, तो झारखंड में मृत्यु दर 0.85 फीसदी है, जबकि देश में 2.46 प्रतिशत है.

2. राज्य में कोरोना बेकाबू, सीएम ने दिए Lockdown में सख्ती के संकेत, राजधानी सबसे ज्यादा प्रभावित

झारखंड में कोरोना बेकाबू दिख रहा है. एक दिन में कोरोना से 7 मौत हो गई है. वही राजधानी रांची में एक दिन में 68(अरसठ) कोरोना पॉजिटिव मिले है. इनमें 22 पुलिसकर्मी भी संक्रमित पाए गए है. जिसके बाद पुलिस हेडक्‍वार्टर में खलबली मच गई है. इसके मद्देनजर सीएम हेमंत सोरेन ने लॉकडाउन में और सख्ती के संकेत दिए है. 22 जुलाई को कैबिनेट के बैठक में इस पर फैसला लिया जा सकता है. सूत्रों के अनुसार, इस बार सरकार कम से कम 15 दिन तक सख्ती कर सकती है.

3. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को फिर से मिली जान से मारने की धमकी

सीएम हेमंत सोरेन और उनके करीबी अधिकारियों को हत्या करने की धमकी की अभी जांच ही चल रही थी कि सोमवार को फिर से एक बार ऐसा ही मेल आया है. इससे एक बार फिर से सनसनी फैल गई है. यह मेल भी पहले की ही तरह मुख्यमंत्री के सचिव राजीव अरुण एक्का की मेल आईडी पर आया है. ये मेल भी पुराने आईडी से ही भेजा गया है. बता दें कि मुख्यमंत्री की हत्या की धमकी वाला पहला मेल 8 जुलाई को आया था. धमकी मिलने के बाद मुख्यमंत्री की सुरक्षा को और बढ़ा दी गयी है. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री को पहले से जेड प्लस सुरक्षा दी गयी है.

4.बीजेपी के वरिष्ठ नेता बाबूलाल मरांडी ने झारखंड पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठाए सवाल

बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने प्रदेश के पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है. मरांडी ने कहा है कि पुलिस मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जान से मारने की धमकी मामले में गंभीर नहीं है. पुलिस की जांच प्रक्रिया केवल खानापूर्ति करने जैसी लग रही है. इस संबंध में उन्होनें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी पत्र लिखा है. इसमें इंटरपोल से मदद लेने का सुझाव दिया है.

5. किर्गिस्तान में फंसे बिहार-झारखंड के मेडिकल छात्रों की मदद के लिए आगे आए सोनू सूद

जानलेवा कोरोना वायरस की वजह से किर्गिस्तान में मेडिकल की पढ़ाई करने गए भारत के करीब 3 हजार छात्र वहां फंस गए हैं. इसमें से बिहार-झारखंड के छात्र भी बड़ी संख्या में शामिल हैं. इन छात्रों की मदद के लिए अब फिल्म अभिनेता सोनू सूद सामने आए हैं. इसके बाद दोनों राज्यों के कम से कम 20 छात्रों की स्वदेश वापसी को लेकर एक उम्मीद की किरण दिखी है.

6.JSSC भर्ती 2017: 11 महिने बाद भी पंचायत सचिव की मेरिट लिस्ट जारी नहीं

पंचायत सचिव के अभ्यर्थियों ने झारखंड कर्मचारी चयन आयोग की मेरिट लिस्ट जारी करने का आग्रह किया है. अभ्यर्थियों के मुताबिक, 11 महिने बीत जाने के बाद भी मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई है जबकि अभ्यर्थी मांग को लेकर लगातार आंदोलन करते आ रहे हैं. डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के 11 माह बीत जाने के बाद भी फाइनल मेरिट लिस्ट का प्रकाशन नहीं किया गया है, जो की चिंता का विषय है.

7.ट्रैक्टर से बालू के उठाव पर हेमंत सोरेन सरकार का यू-टर्न

झारखंड में बालू की कालाबाजारी को देखते हुए हेमंत सोरेन सरकार ने अपना पुराना आदेश वापस ले लिया है. सरकार ने एक आदेश जारी करके सिर्फ ट्रैक्टर से ही बालू की ढुलाई वाला आदेश निरस्त कर दिया है. सरकार ने कहा है कि अब पहले की तरह ट्रैक्टर, ट्रक, हाइवा सभी वाहनों से बालू की ढुलाई की जा सकेगी. इसके पहले सरकार ने कहा था कि सिर्फ ट्रैक्टर से ही बालू की ढुलाई की जायेगी. बड़े वाहनों से भंडारण केंद्र या स्थल से बालू के उठाव पर पूरी तरह रोक लगा दी गयी थी.

8. कोडरमा में अवैध खनन के मामले में जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष महेश राय समेत 22 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

पत्थर के अवैध खनन मामले में वन विभाग ने कोडरमा के पूर्व जिप अध्यक्ष महेश राय समेत 22 लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की है. यही नहीं दर्ज मामले में वन विभाग ने माना है कि वन्य प्राणी आश्रयणी अंतर्गत करीब 10 एकड़ क्षेत्र में बड़े स्तर पर खनन का कार्य किया जा रहा था. इस वजह से खदानों की गहराई 150 से 200 फीट तक हो गयी है, जबकि इस क्षेत्र में किसी भी तरह की गतिविधि की सख्त मनाही है.

9. झारखंड में 21 जुलाई से जोर पकड़ेगा मानसून

झारखंड में 21 जुलाई यानी आज के बाद एक बार फिर से मानसून अपनी रफ्तार पकड़ेगा. मौसम विभाग के मुताबिक, राज्य में 21 जुलाई के बाद, एक बार फिर मानसून सक्रिय होगा और इस दौरान तेज बारिश होने की संभावना है. अभी पिछले कुछ दिनों से राज्य में छिटपूट बारिश हो रही थी, हालांकि इस दौरान राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश भी देखने को मिली है.

10. झारखंड में 5 जिलों को छोड़ कर 19 जिलों में औसत से कम बारिश, 4 जिलों पर सूखा का खतरा

मौसम विभाग ने इस साल झारखंड सहित पूरे देश में सामान्य बारिश का पूर्वानुमान जताया था, लेकिन 1 जून से 20 जुलाई तक हुई कम बारिश ने झारखंड के कई इलाकों के लिए चिंता खड़ी कर दी है. राज्य के 25 में से मात्र पांच जिलों में ही सामान्य बारिश हुई है, जबकि शेष सभी 19 जिलों में औसत से कम बारिश हुई है. वहीं चार-पांच जिले तो सूखाग्रस्त इलाके के रूप में उभर कर सामने आ रहे हैं.