24 August 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

  1. जान बचाने के लिए तड़पती रही स्नैक्स के खाली पैकेट में फंसी मैना, वीडियो वायरल

इन दिनों सोशल मीडिया पर मैना पक्षी का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. अफरोज शाह नाम के ट्विटर यूजर ने इस वीडियो को शेयर किया है. वीडियो में मैना एक प्लास्टिक के पैकेट के अंदर फंस गयी थी, उसने खुद को प्लास्टिक से मुक्त करने की हर संभव कोशिश की. इसी बीच एक व्यक्ति ने मैना को देखा और उसके सिर से पैकेट हटाकर उसकी जान बचा ली. लेकिन अब इस वीडियो ने सोशल मीडिया पर प्रदूषण और उसके गंभीर परिणामों को लेकर बहस छेड़ दी है.

  1. अब 48 घंटे में दूर होगी दिल्‍लीवासियों की पानी की समस्‍या, जल बोर्ड ने तैयार किया प्‍लान

दिल्‍ली वालों की पानी की समस्‍या को लेकर आप सरकार नए प्‍लान पर काम कर रही है. इसी के तहत दिल्‍ली जल बोर्ड राजधानीवास‍ियों को 24 घंटे सातों द‍िन पानी की सप्‍लाई करने की तैयारी में जुटा हुआ है.दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों से कहा कि वे जल आपूर्ति संबंधी सभी शिकायतों के 48 घंटे में समाधान के लिए एक मजबूत तंत्र विकसित करें.

  1. स्काईमेट ने सामान्य से 60% कम बारिश का अनुमान जारी किया, जबकि जून में औसत से 10% ज्यादा बरसे थे बादल

मौसम का अनुमान लगाने वाली प्राइवेट कंपनी स्काईमेट ने कहा है कि इस साल बारिश का आंकड़ा सामान्य से 60% कम रहेगा। स्काईमेट ने इससे पहले, 13 अप्रैल 2021 को मानसून का पूर्वानुमान जारी किया था। उस समय देश में सामान्य बारिश होने की बात कही गई थी, लेकिन अपडेटेड अनुमान के मुताबिक अब इस साल बारिश के सामान्य से 60% कम रहने की संभावना है।

  1. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने मध्यांचल भवन नई दिल्ली में किया पौधारोपण, प्रतिदिन एक पौधा लगाने के संकल्प को निभाया

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नई दिल्ली में है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रतिदिन एक पौधा लगाने का संकल्प लिया है. अपने संकल्प के क्रम में उन्होनें आज मंगलवार को नई दिल्ली के मध्यांचल भवन में पौधारोपण किया। इस दौरान उन्होंने कहा पेड़ – पौधे ही सुखद और समृद्ध भविष्य का आधार हैं।

  1. उत्तराखंड में भूस्खलन: चंपावत राजमार्ग पर जबरदस्त भूस्खलन, सड़क पर आ गिरा पूरा पहाड़

उत्तराखंड के चंपावत में भूस्खलन की भयानक तस्वीरें सामने आई है. चंपावत राज मार्ग पर जबरदस्त भूस्खलन हुआ. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. वीडियो में आप देख ही दे सकते हैं कैसे पूरा का पूरा पहाड़ सड़क पर आ गिरा है. जिला प्रशासन का कहना है कि मलबा साफ करने में कम से कम 48 घंटे तक का वक्त लगेगा. बात दें कि सोमवार की सुबह चंपावत-टनकपुर हाईवे पर स्वाला के करीब पहाड़ी का एक हिस्सा दरक गया था और दिन बर बोल्डर गिरने का सिलसिला जारी था.

  1. देश में सभी राज्यों को पीछे छोड़ टॉप पर पहुंचा उत्तर प्रदेश, दुध उत्पादन क्षेत्र में बना नंबर वन

उत्तर प्रदेश ने देश में दूध उत्पादन में रिकॉर्ड कायम किया है. देश में उत्तर प्रदेश ने दूध उत्पादन के मामले में पहला स्थान हासिल किया है. वहीं राजस्थान दूसरे और आंध्र प्रदेश तीसरे नंबर पर हैं. दूध के उत्पादन बढ़ने से यूपी में रोजगार को भी बल मिलता दिखाई दे रहा है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश भारत के कुल दूध उत्पादन का 17 प्रतिशत हिस्सा अपने यहां से देश को भेजता है.

7.मौसम विभाग का पूर्वानुमान जारी, कई राज्यों में बारिश की संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है. पूर्वोत्तर भारत, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश, झारखंड, केरल और तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.

  1. कॉटन के ये अनोखे कपड़े हवा में मौजूद प्रदूषक तत्वों को सोख लेते हैं; घर, ऑफिस, थियेटर और प्लेन के लिए कारगर

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) दिल्ली के शोधकर्ताओं ने प्रदूषण से निपटने की तरकीब खोज ली है। शोधकर्ताओं ने ऐसा मॉडिफाइड कॉटन फैब्रिक विकसित किया है जो नुकसान पहुंचाने वाले वायु प्रदूषकों को सोखने में सक्षम है। ये उन्नत कपड़े हवा से बेंजीन, एनिलिन और स्टाइरीन जैसे कार्बनिक वायु प्रदूषकों के उच्च स्तर को सोख लेते हैं।

  1. देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 25 हजार 467 नए मामले दर्ज, 354 की मौत

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 25 हजार 467 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, 354 लोगों की मौत हो गई. देश में पिछले 24 घंटों में 39 हजार 486 लोग ठीक हुए हैं. जिसके बाद ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर अब तीन करोड़ 17 लाख 20 हजार 112 हो गई है. वहीं, अब एक्टिव केस घटकर तीन लाख 19 हजार 551 रह गए हैं.

  1. लेजर लाइट से आकाशीय बिजली को मार गिराएंगे वैज्ञानिक, नया प्रयोग

स्विस एल्प्स के पहाड़ों के ऊपर एक अनोखा प्रयोग होने वाला है. इसमें आकाशीय बिजली को जमीन से लेजर लाइट फेंककर नियंत्रित करने का प्रयास किया जाएगा. इस काम के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ जेनेवा के वैज्ञानिक दिन-रात काम कर रहे हैं. वैज्ञानिकों ने सैंटिस रेडियो ट्रांसमिशन टावर की चोटी पर एक बड़े लेजर लाइट को लगाया है. जो बिजली के पैदा होते ही आकाश में लेजर छोड़ेगा. यह एक तरह का अत्याधुनिक लाइटनिंग रॉड की तरह काम करेगा.

Source: Different News Website