27 January 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

  1. बेंगलुरु की हवा बद से बदतर, 2020 में वायु प्रदूषण की वजह से 12,000 की मौत हुई: ग्रीनपीस

देश के अलग-अलग शहरों में वायु प्रदूषण की समस्या गंभीर होती जा रही है। एक नई रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु के सभी 10 एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन ने प्रदूषण का जो लेवल दर्ज किया है, वो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मानकों से अधिक है। ग्रीनपीस ने ‘क्या दक्षिण भारत के शहर सुरक्षित हवा में सांस ले रहे हैं?’ टाइटल से रिपोर्ट तैयार की है। इसके मुताबिक बेंगलुरु और अन्य दक्षिण भारतीय शहरों की स्थिति चिंताजनक है।

  1. पाकिस्तान ने अब लाहौर में बढ़ते प्रदूषण के लिए भी भारत को जिम्मेदार ठहराया

एक जांच रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में प्रदूषण फैलने के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया गया है. पाकिस्तान के प्रमुख शहर लाहौर में भयानक वायु प्रदूषण के लिए भारत को जिम्मेदार बताया गया है. समा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, बहाउद्दीन जकारिया यूनिवर्सिटी और एनयूएसटी यूनिवर्सिटी की संयुक्त जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत से आने वाली प्रदूषित हवा ने लाहौर में जहरीला स्मॉग बनाया है.

3.एक वृक्ष, एक जीवन समान! आज सीएम ने मप्र के पहले एवरेस्ट विजेता के साथ किया पौधरोपण

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रतिदिन पौधा लगाने के संकल्प के बीच आज भोपाल के स्मार्ट उद्यान में प्रदेश के पहले एवरेस्ट विजेता भगवान सिंह के साथ करंज और बादाम का पौधा लगाया, इस अवसर पर सीएम ने नागरिकों से पौधरोपण कर धरती की सेवा करने एवं धरा और जीवन को समृद्ध बनाने की अपील की.

  1. जकार्ता से बोर्नेओ शिफ्ट होगी इंडोनेशिया की राजधानी, प्राकृतिक आपदाओं और प्रदूषण की वजह से लिया गया फैसला

इंडोनेशिया सरकार राजधानी जकार्ता में आबादी और प्रदूषण बढ़ने, भूकंप की आशंकाओं और इसके तेजी से जावा सागर में डूबने के मद्देनजर राजधानी को बोर्नेओ द्वीप में बदलने की तैयारी कर रही है.राष्ट्रपति जोको विदोदो का मानना है कि नयी राजधानी के निर्माण से जकार्ता में उत्पन्न समस्याएं कम होगीं. इसकी आबादी में कमी आएगी और देश की परिवहन व्यवस्था में सुधार होगा जिससे पर्यावरण बेहतर होगा.

  1. इंसान की त्वचा पर 21 घंटे और प्लास्टिक सतह पर आठ दिन तक जिंदा रहता है ओमिक्रॉन, इसलिए फैलने की रफ्तार सबसे तेज

जापान के क्योटो प्रीफेक्चरल यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिसिन के विशेषज्ञों ने जो रिसर्च तैयार की है, उसमें ओमिक्रॉन वैरिएंट के तेजी से फैलने की कई अहम वजहें सामने आई हैं। स्टडी के मुताबिक, कोरोनावायरस का ओमिक्रॉन स्वरूप इंसानी त्वचा पर 21 घंटे तक जिंदा रह सकता है, जबकि किसी प्लास्टिक सतह पर यह वैरिएंट आठ दिन तक भी एक्टिव रहता है।

  1. दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण खराब श्रेणी में, अगले दो दिन नहीं होगा सुधार

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर एक बार फिर खराब श्रेणी में पहुंच गया है। सफर इंडिया का कहना है कि दिल्ली-एनसीआर में आगामी दो दिन तक को एयर इंडेक्स खराब श्रेणी में ही रहेगा. इसके बाद हवा की रफ्तार बढ़ने और वेंटीलेशन में सुधार होने से वायु गुणवत्ता भी और बेहतर हो सकती है.

  1. जयपुर समेत प्रदेशभर में वायु प्रदूषण मुख्य समस्या, राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल करेगा पहल

जयपुर समेत प्रदेशभर में वायु प्रदूषण एक मुख्य समस्या है. इस पर रोकथाम लगाने के लिए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण मंडल तमाम राज्यों के प्रदूषण नियंत्रण मंडलों से प्रदूषण को दूषित करने वाले कारकों पर रोक लगाने के लिए रिपोर्ट तलब करने के साथ ही नवाचार को बढ़ावा देने पर जोर दे रहा है.

  1. कोरोना अपडेट: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 573 मरीजों की मौत

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान 2,86,384 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं. देश में संक्रमण के कुल मामलों की तादाद 4 करोड़ के पार जा चुकी है. बीते 24 घंटे के दौरान 573 मरीजों की मौत हुई है. देश में एक्टिव केस 22,02,472 हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान 3,06,357 मरीज ठीक हुए हैं.

  1. दिल्ली, यूपी उत्तराखंड समेत कई राज्यों में बदलेगा मौसम

मौसम में पल–पल हो रहे बदलाव की वजह से ठंड और बारिश ने लोगों का जन जीवन अस्त–व्यस्त कर रखा है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले 72 वर्षों में ये दूसरी बार है जब जनवरी माह में कंपा देने वाली कड़ाके की ठंड पड़ रही है. मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों में  अभी भी ठंड से कुछ दिन और राहत ना मिलने की उम्मीद है.

  1. झारखंड मौसम: आज कड़ी धूप, मौसम बना रहा शुष्क

झारखंड में कंपकंपी के बीच आज सुबह से ही धूप खिली हुई है. आज गुरुवार को दिन भर मौसम शुष्क बना रहा.हल्के से मध्यम दर्जे का कोहरा व धुंध देखा जा सकता है. राज्य के उत्तरी व मध्य भागों में अगले 4 दिनों के दौरान न्यूनतम तापमान में कोई बड़े बदलाव की संभावना नहीं है, जबकि दक्षिणी भागों में अगले 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे 2-4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट की संभावना है.

Source: Different News Website