27 July 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News। Weather news in India।Latest News Update

1. दिल्ली: पर्यावरणीय प्रवाह के बिना यमुना नहीं बन सकती नहाने योग्य, सरकार ने जल शक्ति मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट

पानी के न्यूनतम पर्यावरणीय प्रवाह के बगैर यमुना नहाने लायक नहीं बन सकती। दिल्ली सरकार ने ये जानकारी केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय को सौंपी एक रिपोर्ट में दी है। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि राजधानी के 35 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में से 22 दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी के मानकों को पूरा नहीं करते हैं। वहीं औद्योगिक क्षेत्र के 13 कॉमन एफ्लूएंट ट्रीटमेंट में से केवल छह ही दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी के मानकों को पूरा करते हैं।

2. पांच राज्यों के प्रदूषण पर NCAP की नजर, यूपी-हरियाणा की स्थिति सबसे ज्यादा खराब

NCAP ( नैशनल क्लीन एयर प्रोग्राम) ट्रैकर की ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि 2021 के शुरुआती छह महीनों में गाजियाबाद सबसे प्रदूषित शहर है। दिल्ली को इस मामले में नौंवा स्थान मिला है। दस सबसे प्रदूषित शहरों में से आठ शहर यूपी और हरियाणा के हैं। ज्यादातर शहर दिल्ली के आसपास के हैं। इस रिपोर्ट में ये बात भी सामने आई है कि प्रदूषण की समस्या सिर्फ उन महीनों की ही नहीं है जब राज्य में पराली जलाई जाती है।

3.राजस्थान का फतेहपुर बारिश से बेहाल

राजस्थान के फतेहपुर शेखवटी में लोग बारिश के लिए तरसते थे, लेकिन इस बार बारिश ने कहर बरपाया है. राजस्थान के फतेहपुर शेखवटी में आम तौर पर पारा 40 डिग्री के पार चला जाता है, लेकिन इस बार बारिश ने ऐसा कहर बरपाया है कि फतेहपुर का झुझनू रोड मानो टापू बन गया है. पूरा सारनाथ मंदिर डूब गया है. इस बार फतेहपुर शेखावटी में सबसे ज्यादा बारिश हुई है.

4. अंतरराष्ट्रीय क्लीन एयर कैटालिस्ट कार्यक्रम के लिए इंदौर का चयन

अंतरराष्ट्रीय क्लीन एयर कैटालिस्ट कार्यक्रम के लिए देशभर में से इंदौर का चयन किया गया है। कार्यक्रम में चुने जाने से अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं इंदौर में हवा की शुद्धता बढ़ाने के लिए न केवल अध्ययन करेंगी, बल्कि करोड़ों रुपये का अनुदान भी देंगी। इंदौर को यूएस एड (यूनाइटेड स्टेट एजेंसी फार इंटरनेशनल डेवलपमेंट) और उसके साझेदार ईडीएफ (एन्वायर्नमेंटल डिफेंस फंड्स) और डब्ल्यूआरआइ (वर्ल्ड रिसोर्सेस इंस्टिट्यूट) सहयोग करेंगे।

5. महाराष्ट्र में मानसूनी बारिश ने बरपाया कहर, 192 लोगों की गई जान; 25 अभी भी लापता

महाराष्ट्र में मानसूनी बारिश आफत बनकर टूटी है राज्यक में बाढ़ और भू्स्खंलन के कारण अब तक 192 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 25 लोग अभी भी लापता बताये जा रहे हैं। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) के अनुसार पश्चिम महाराष्ट्र में भीषण बाढ़ का कारण बनी मूसलाधार बरसात ने पिछले करीब 100 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। यहां के बाढ़ ग्रस्ती इलाकों से अब तक 375,178 लोगों को सुरक्षित स्था न पर पहुंचाया गया है। कुछ स्था नों पर 20 फुट तक पानी भरा हुआ है।

6. जब पराली जलाने की घटनाओं में कमी आई तो महामारी के संक्रमण दर में भी कमी देखी गई- IITM के वैज्ञानिक

पुणे के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेटेरियोलॉजी यानी IITM के वैज्ञानिकों की ताजा रिसर्च के मुताबिक, पराली जलाने से हवा में मौजूद ब्लैक कार्बन ही वह बड़ा कारक था, जिसकी वजह से SARS-COV-2 वायरस ने पिछले साल दिल्ली में अक्टूबर-नवंबर के महीने में कहर बरपाया. अर्बन क्लाइमेट नाम के रिसर्च जर्नल में प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में IITM के वैज्ञानिकों ने कहा है कि जब पराली जलाने की घटनाओं में कमी आई तो महामारी के संक्रमण दर में भी कमी देखी गई.

7. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज सपत्पर्णी का पौधा लगाया

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हर रोज पौधा लगाने का संकल्प लिया है और वो बखुबी अपना संकल्प पूरा भी कर रहे है. इसी कड़ी में आज भोपाल स्थित स्मार्ट पार्क में मुख्यमंत्री शिवराज ने सप्तपर्णी का पौधा लगाया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सप्तपर्णी एक सदाबहार औषधीय वृक्ष है, जिसका आयुर्वेद में बहुत महत्व है। पौधों को रोपते समय असीम आनंद की अनुभूति हो रही है। आप सब भी पेड़ लगाएँ

8. नीति आयोग ने कहा- खत्म नहीं हुई कोरोना की लहर, वायरस को हल्के में न लें

देश में पिछले 24 घंटे में 29,689 नए COVID-19 केज दर्ज किए गए हैं. पिछले 132 दिनों में एक दिन में आए यह सबसे कम नए मामले हैं. आज के नए केस कल की तुलना में लगभग 25 फीसदी कम हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान 415 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है. फिलहाल, रिकवरी रेट बढ़कर 97.39 प्रतिशत पर है. नीति आयोग ने कहा- खत्म नहीं हुई कोरोना की लहर, वायरस को हल्के में न लें

9. कांगड़ा: भूस्खलन की चपेट में आई कार, छत तोड़कर बाहर निकाला चालक

हिमाचल प्रदेश के पठानकोट-मंडी एनएच पर एक कार अचानक भूस्खलन की चपेट में आ गई। घटना में कार चालक गंभीर रूप से घायल हो गया। वही किन्नौर में 25 जुलाई को हुए भूस्खलन से सड़कें बंद हो गईं है, जिसके चलते लगभग 60 से 80 पर्यटक दो गांवों में फंसे हुए है जिनको निकालने का काम चल रहा है. राज्य में लोगों और पर्यटकों से अपील भी की गई है कि वो भूस्खलन और नदी वाले जगहों पर ना जाएं क्योंकि भारी बारिश होने की संभावनाएं बनी हुई है.

10. बड़ा खतरा: जर्मनी के केमिकल पार्क में विस्फोट, कई हाईवे बंद, लोगों को घर में ही रहने की चेतावनी

जर्मनी के लीवरकुसेन शहर में स्थित एक केमिकल पार्क में मंगलवार को भीषण विस्फोट हुआ। इस घटना में कई कर्मचारियों के घायल होने की खबर है। वहीं, विस्फोट के बाद पूरे शहर में घना काला धुंआ फैल गया है, जिसके चलते जहरीले प्रदूषण की आशंका बढ़ गई है। इस घटना को गंभीर खतरा घोषित कर दिया गया है और स्थानीय लोगों को चेतावनी दी गई है कि वह अपने घर के अंदर ही रहें। दमकल और प्रदूषण जांच वाहन मौके पर पहुंच चुके हैं।

Source- Different news website