28 May 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update।

1. पीएम मोदी ने की बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के साथ बैठक, यास तूफान से हुए नुकसान का लिया जायजा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यास चक्रवात से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए आज शुक्रवार को बंगाल और ओडिशा के दौरे पर हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने बंगाल की मुख्यंमत्री ममता बनर्जी के साथ अलग से करीब 15 मिनट तक बैठक की. ऐसा माना जा रहा है कि इस दौरान तूफान से राज्य में हुए भारी नुकसान पर दोनों शीर्ष नेताओं के बीच चर्चा हुई.इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को भुवनेश्वर पहुंचे और यहां एक बैठक में चक्रवात ‘यास’ से ओडिशा के विभिन्न इलाकों में हुए नुकसान की समीक्षा की. इस दौरान ओडिशा सरकार ने बार-बार आने वाली चक्रवात की समस्या से निजात के लिए दीर्घकालिक समाधानों और आपदा अनुकूल शक्ति तंत्र के प्रावधानों पर जोर दिया.

2.महाराष्ट्र सरकार दाह संस्कार की वजह से बढ़े वायु प्रदूषण के मुद्दे को देखे : बंबई उच्च न्यायालय

बंबई उच्च न्यायालय ने महाराष्ट्र सरकार और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया कि वे कोविड-19 महामारी से हुई मौतों के कारण दाह संस्कार की संख्या में वृद्धि से उपजे वायु प्रदूषण की समस्या का देखे. बंबई हाई कोर्ट ने पुणे की छह हाउसिंग सोसाइटी द्वारा दायर याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया. याचिकाकर्ताओं ने कोविड-19 से होने वाली मौतों की वजह से नजदीकी श्मशान भूमि में दाह संस्कार की संख्या में वृद्धि और उससे वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी को रेखांकित किया था.अदालत ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अपनी विशेषज्ञता का इस्तेमाल करे और तय करे कि धुएं को कम करने के लिए सबसे बेहतरीन प्रौद्योगिकी क्या हो सकती है.

3.दिल्ली में अनलॉक: शुरू होगा कंस्ट्रक्शन, खुलेंगी फैक्ट्रियां, केजरीवाल ने किया ऐलान

दिल्लीवालों के लिए एक अच्छी खबर है. देश की राजधानी में कोरोना के घटते केस को देखते हुए लॉकडाउन हटाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दिल्ली में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि बड़ी मेहनत से कोरोना को काबू में किया गया है, लेकिन अभी पूरी लड़ाई जीती नहीं है.आज फैसला लिया गया कि सोमवार से कंस्ट्रक्शन और फैक्ट्रियों की गतिविधियों को खोला जाएगा, अगले एक हफ्ते के लिए यह दोनों सेक्टर खुले रहेंगे.’हम दिल्ली में लॉकडाउन को धीरे-धीरे खोलेंगे,

4.कोरोना मरीजों में सामने आया एक नया फंगल इंफेक्शन, छिपकर कर रहा हमला

भारत में कोविड मरीजों में म्यूकोरमाइकोसिस के बढ़ते मामलों के बीच एक और फंगल इंफेक्शन सामने आया है. इस फंगल इंफेक्शन का नाम है- एस्परजिलोसिस. कोरोना से संक्रमित हुए व्यक्ति और इससे रिकवर हो चुके मरीजों, दोनों में ही ये संक्रमण देखने को मिल रहा है. गुजरात के वडोदरा में दो सरकारी अस्पतालों में पिछले एक हफ्ते में एस्परजिलोसिस के करीब आठ मरीजों को यहां भर्ती कराया गया है.हालांकि, वहां की डॉक्टर का कहना है कि एस्परजिलोसिस ब्लैक फंगस के जितना घातक नहीं है, लेकिन इस पर ध्यान ना देने से ये जानलेवा साबित हो सकता है.

5.राहुल गांधी ने कहा कोरोना की दूसरी लहर के पीछे की वजह पीएम की नौटंकी,राहुल पर बीजेपी का पलटवार

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर से पीएम मोदी पर कोरोना महामारी मैनेजमेंट में असफल रहने का आरोप लगाया है. राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि ये दूसरी वेव प्रधानमंत्री की ज़िम्मेदारी है, प्रधानमंत्री ने जो नौटंकी की, अपनी ज़िम्मेदारी पूरी नहीं की उसके कारण दूसरी वेव आई है.कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के आरोपों पर अब बीजेपी ने पलटवार किया है.केंद्रिय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि उनकी नौटंकी जनता ने कब की बंद कर दी है.जावड़ेकर ने कहा, “प्रधानमंत्री देश की जनता के साथ कोविड का सामना कर रहे हैं तब ये (राहुल गांधी) ऐसे प्रयासों के लिए नौटंकी शब्द का उपयोग करते हैं.

6.विपक्ष के हमलावर रूख के बीच सरकार ने बताया, कब तक देश में सभी को लग जाएगी कोरोना वैक्सीन

वैक्सीन नीति पर विपक्षी दलों के हमले के बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि दिसंबर तक देश में कोरोना टीकाकरण का काम पूरा कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने तब तक 216 करोड़ खुराकों के उत्पादन का रोडमैप पेश किया है.बता दें कि कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी का दावा किया है. इस बीच केंद्र सरकार की तरफ से आया ये बयान बेहद अहम माना जा रहा है.

7.उत्तर प्रदेश:सेनेटरी पैड पर्यावरण के लिए हानिकारी, अब माहवारी कप लेंगे इनकी जगह, चल रहा शोध

उत्तर प्रदेश में माहवारी में सेनेटरी पैड में उपयोग होने वाले लिक्विड और अन्य कच्चे माल से स्वास्थ्य और पर्यावरण पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव का अध्ययन किया जा रहा है. इस अध्ययन में कहा गया है कि माहवारी के दौरान इस्तेमाल होने वाले सेनेटरी पैड पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे हैं। ये न आसानी से गलते हैं और न डिकम्पोज होते हैं। इससे सैकड़ों वर्षों तक जमीन में दबे रहते हैं। पर्यावरण को इन सेनेटरी पैड से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए अब माहवारी कप का आविष्कार किया गया है। इस कप के इस्तेमाल से महिलाओं को होने वाले फायदे या नुकसान को लेकर लखनऊ के तीन अरबन स्लम सहित प्रदेश के कई जगहों पर शोध चल रहा है.

8.देश में 44 दिन बाद सबसे कम मामले आए, 24 घंटे में 1.86 लाख संक्रमित हुए

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 1 लाख 86 हजार 364 नए कोरोना केस आए और 3660 संक्रमितों की जान चली गई है. वहीं 2 लाख 59 हजार 459 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. कुल कोरोना केस- दो करोड़ 75 लाख 55 हजार 457,कुल डिस्चार्ज- दो करोड़ 48 लाख 93 हजार 410,कुल एक्टिव केस- 23 लाख 43 हजार 152,कुल मौत- 3 लाख 18 हजार 895

9.बिहार-बंगाल से यूपी तक यास तूफान से पानी-पानी, कई राज्यों में अभी भी बारिश जारी

चक्रवाती तूफान यास का असर बंगाल, ओडिशा से लेकर अब बिहार-यूपी समेत देश के कई इलाकों में दिख रहा है। यास तूफान की वजह से मौसम ने ऐसी करवट ली है कि बंगाल से लेकर बिहार-यूपी तक पानी-पानी हो गया है। बंगाल और ओडिसा में तबाही मचाने के बाद अब बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश में यास अपना विकराल रूप दिखा रहा है। बिहार, झारखंड से लेकर पश्चिम बंगाल और यूपी तक के ज्यादातर इलाकों में लगातार बारिश हो रही है। यास की वजह से जन-जीवन भी पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो चुका है .उत्तर बिहार के ज्यादातर इलाकों में बीते 24 घंटे से बिजली गुल है. राजधानी दिल्ली में इसका असर नहीं है इसलिए यहां तापमान बढ़ता हुआ दिख रहा है.

10.झारखंड के कई जिलों में आज भी बारिश, चक्रवात का असर होगा कम

चक्रवात यास का झारखंड में व्यापक असर देखने को मिला.मगर अब ये धीरे-धीरे कमजोर हो रहा है. मौसम विभाग ने राज्य में शुक्रवार को चक्रवात के उत्तरी जिलों के तरफ बढ़ते हुए कमजोर होने की आशंका जताई है. इस बीच रांची, लातेहार, गढ़वा, पलामू, रांची, कोडरमा, खूंटी, बोकारो, रामगढ़ और हजारीबाग में कुछ-कुछ स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश जारी है.वहीं दक्षिणी जिले पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सराकेला-खरसावां और सिमडेगा में मुख्य रूप से मौसम साफ रहा.हालांकि कहीं-कहीं हल्की बारिश देखने को मिल रही है.

Source: Different news website