5 July 2021: Today’s Top Most 10 Environmental News।Weather news in India।Latest News Update

1. प्रचंड गर्मी से 17,362 मौतें, अध्ययन में खुलासा; भारत में 50 साल में लू के थपेड़ों ने निकाली जानें

भारत में प्रचंड गर्मी ने 50 साल में 17,000 से अधिक लोगों की जान ले ली है। 1971(एकहतर) से 2019 के बीच लू चलने की 706 घटनाएं हुई हैं। यह जानकारी देश के शीर्ष मौसम वैज्ञानिकों द्वारा प्रकाशित शोध पत्र से मिली है। अध्ययन के मुताबिक, 50 साल में 17,362(बासठ) लोगों की मौत लू की वजह मौत हुई है, जो कुल दर्ज मौत के आंकड़ों के 12 प्रतिशत से थोड़ा ज्यादा है. इसमें कहा गया कि लू से अधिकतर मौत आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और ओडिशा में हुईं.

2. जंगल जलते रहेंगे तो बादल फटते रहेंगे: आईआईटी और हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विवि के संयुक्त शोध में हुआ खुलासा

उत्तराखंड में आए दिन बादल फटने की घटनाएं होती रहती हैं। आईआईटी और हेमवंती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के संयुक्त शोध में यह सामने आया है कि बादल फटने का एक कारण जंगलों में लगने वाली आग भी है। वैज्ञानिक साल 2018 से बादल फटने का कारण पता लगाने के लिए शोध कर रहे हैं।

3. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज लगाया गूलर का पौधा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हर रोज एक पौधा लगाते है. आज उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- प्रतिदिन एक पौधा लगाने का काम जारी है. आज भोपाल स्थित स्मार्ट पार्क में गूलर का पौधा रोपा है. गूलर शरीर के घावों को भरने, डायबिटीज़ नियंत्रण और पेटदर्द समेत अनेक बीमारियों के इलाज में उपयोगी है। आप सभी किसी भी शुभ अवसर पर एक पेड़ अवश्य लगाएँ।

4. ‘ध्वनि प्रदूषण की निगरानी के लिए 31 एंबिएंट नॉइज मॉनीटरिंग स्टेशन्स बनाए’

राष्ट्रीय राजधानी में ध्वनि प्रदूषण अब एक गंभीर अपराध की तरह देखा जा रहा है। इसके कारणों का पता लगाने के लिए चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है. दिल्ली पल्यूशन कंट्रोल कमिटी(डीपीसीसी) ने इस मुद्दे पर एनजीटी में एक स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की है, जिसमें बताया गया कि ध्वनि प्रदूषण की रोकथाम के लिए उसकी ओर से अब तक क्या-क्या कदम उठाए जा चुके हैं।

5. मानसून में देरी के कारण मौसम विभाग पर उठे सवाल, IMD ने कहा- ‘कोई अनुमान नहीं होता 100 प्रतिशत सटीक’

मानसून के अभी भी शहर और उसके आसपास के इलाकों से दूर होने के कारण, भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान आलोचनाओं के घेरे में आ गए हैं. इसे लेकर आईएमडी में मौसम विज्ञान के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि दुनिया में किसी भी पूर्वानुमान मॉडल में सर्वश्रेष्ठ तकनीक के साथ भी 100 प्रतिशत सटीकता नहीं होती.

6. पीलीभीत: नदी में भैंस नहला रहे 13 साल के लड़के पर मगरमच्छ का हमला, दर्दनाक मौत

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में मगरमच्छों के आतंक से लोगों में दहशत है. दुधवा रेंज में एक लड़के को मगरमच्छ के निगल जाने के कुछ दिन बाद फिर एक और ऐसी ही घटना सामने आई है. यहां खाखरा नदी में 13 साल के एक लड़के की क्षतविक्षत लाश मिली है. यहां तीन हफ्ते में मगरमच्छ के हमले में दो लोगों की मौत हो चुकी है और एक गंभीर रूप से घायल हुआ है.

7. मौसम का हाल: देश के कई इलाकें गर्मी से बेहाल, बिहार बाढ़ से परेशान

देश में इस वक्त मौसम का अजब-गजब रूप देखने को मिल रहा है. दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में लोगों को बारिश का इंतज़ार है और रिकॉर्डतोड़ गर्मी से हाल बेहाल हो गया है. तो दूसरी ओर बिहार में बाढ़ के कारण लोग परेशान हैं, बिहार के कई हिस्सों में पानी का प्रकोप है और लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है

8. देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 39,796 नए मामले, एक्टिव मामलों की संख्या 5 लाख से हुई कम

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना महामारी के 39 हजार 796(छियांबे) नए मामले सामने आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 3 करोड़ 5 लाख 85 हजार 229 हो गई है. साथ ही 723 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या का आंकड़ा बढ़कर 4 लाख 2 हजार 728 हो गया है. इसके अलावा पिछले 24 घंटों में 42 हजार 352(बावन) नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 2 करोड़ 97(संतांबे) लाख 430 हो गई है.

9. साइप्रस: साइप्रस के जंगलों में लगी भीषण आग, 4 लोगों की मौत

मीडिल इस्ट क्रट्री साइप्रस के पहाड़ी इलाकों के जंगल में करीब 24 घंटे से भीषण आग लगी हुई है. इस आग में अब तक चार लोगों की मौत हो गई. साइप्रस के इतिहास में ये आग अब तक की सबसे भीषण आग मानी जा रही है. आग की लपटों को बुझाने में मदद करने के लिए इजराइल, ग्रीस और इटली से अग्निशमन विमानों को साइप्रस भेजा गया क्योंकि अभी भी जोखिम है कि तेज हवाओं से आग की लपटें मजबूत हो सकती हैं.

10. जापान में काले पानी का कहर, कई लोगों की मौत कई लोग लापता

जापान में भारी बारिश और भूस्खलन ने तबाही मचाई हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वीकेंड में मध्य जापानी शहर अटामी में हुई मूसलाधार बारिश के कारण भूस्खलन हुआ, जिसमें कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई है और करीब 100 से अधिक लोग लापता हैं. इससे शहर की 130 इमारते प्रभावित हुई है.

Source: Different News Website