फ्रांस से भारत आने के लिए उड़े 5 राफेल फाइटरजेट, 29 जुलाई को होंगे वायुसेना में शामिल

फ्रांस के मेरिग्नाक बेस से पांच राफेल लड़ाकू विमान भारत के लिए रवाना हो गए हैं.भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने के लिए 5 राफेल फाइटर जेट ने फ्रांस से उड़ान भर दी है. एक दिन के बाद ये पांचों विमान अंबाला एयपबेस पहुंच जाएंगे. इन विमानों में दो ट्रेनर एयरक्राफ्ट हैं और तीन लड़ाकू.इन पांचों फाइटर प्लेन को भारत के 7 भारतीय पायलट उड़ाकर अंबाला एयरबेस ला रहे हैं. बुधवार यानी 29 जुलाई को इन विमानों को वायुसेना में शामिल किया जाएगा.

भारत आने के लिए फ्रांस से उड़े 5 ...

जानकारी के मुताबिक, फ्रांस से भारत आते समय ये पांचों विमान अंबाला पहुंचने से पहले यूएई में अबूधाबी के करीब अल-दफ्रा फ्रेंच एयरबेस पर 28 जुलाई को हॉल्ट करेंगे यानी वहां रुकेंगे.

अंबाला एयरबेस पर राफेल लड़ाकू विमानों की पूरी तैयारी कर ली गई है. क्योंकि पहली खेप दिल्ली के करीब हरियाणा के इसी बेस पर तैनात की जाएगी.रफाल की पहली स्कॉवड्रन को ‘गोल्डन ऐरो’ का नाम दिया गया है.अंबाला एयरबेस पहुंचने के बाद ही राफेल विमानों को मिसाइल से लैस किया जाएगा. इसमें स्कैल्प, मेटेओर और हैमर मिसाइल शामिल है. राफेल पहला स्क्वाड्रन अंबाला में स्थित होगा, जबकि दूसरा पश्चिम बंगाल के हाशिमारा में होगा.

बता दें कि फ्रांस के मेरिग्नाक में रफाल बनाने वाली कंपनी,‌ दसॉल्ट की फैसेलिटी है जहां उनका निर्माण हुआ है.