कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद मिली अद्भुत शक्ति! सब हो गए हैरान

आज सुबह से एक खबर सब जगह छाई हुई है. खबर ये है कि कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद शरीर से लोहे का सामान चिपकने लगा है यानी जिन्हें कोरोना की वैक्सीन लग गई है उन्हें चुंबकीय शक्ति मिल गई है. इस खबर को सुन कर सभी चौंक गए है.

maharashtra man claims viral that his body behaves like a magnet after  covid vaccine both dose samp | दिलचस्प दावा: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद  'चुंबक' बन गया शरीर, चिपक रहे हैं

दरअसल, एक के बाद एक कई मामले ऐसे सामने आ रहे है.मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक, इससे जुड़ी खबर सबसे पहले महाराष्ट्र के नासिक जिले से सामने आई है. यहां एक परिवार का दावा है कि कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के बाद उनके परिवार के एक बुजुर्ग सदस्य के शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा हो गई है. डोज लेने के बाद उनके शरीर पर चम्मच, स्टील और लोहे के बर्तन और सिक्के चिपक जा रहे हैं. परिवार ने जिला प्रशासन को भी इसकी सूचना दी. प्रशासन की ओर से डॉक्टरों की एक टीम यहां जांच के लिए पहुंची और वे भी इसे देख हैरत में पड़ गए.

इस घटना की जानकारी सामने आने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मामले की जांच का आदेश दे दिया है. उन्होंने गुरुवार को कहा कि इस मामले में सच्चाई सभी के सामने आनी चाहिए. इसके पीछे कोई चिकित्सीय कारण है या कुछ और यह सच जल्द पता लगना चाहिए. इसलिए हमने इस मामले की जांच का आदेश दिया है.

अब महाराष्ट्र के बाद कोटा से भी ऐसा ही अनूठा मामला सामने आया है. यहां एक पुरुष व एक महिला का दावा है कि कोरोना वैक्सीन के डोज लेने के बाद उनके शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा हो गई है. अब उनके शरीर पर सिक्के,कैंची, सुई चिपक जा रहे हैं. महिला लता व पुरुष सज्जन सिंह दोनों पड़ोसी हैं.

After getting the Corona vaccine take care of these 4 things mpgs | कोरोना  वैक्सीन लगवाने के बाद इन 4 चीजों का रखें ख्याल, जानें साइड इफेक्‍ट्स पर WHO  ने क्‍या कहा |

सज्जन सिंह ने बताया कि 24 मई को उन्होंने वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी. दूसरे दिन खरीददारी करने मॉल में गए तो वो बेहोश हो गए. रीढ़ की हड्डी में प्रॉब्लम आई. 8 दिन पहले डॉक्टर को दिखाया था. इसके बाद जिस जगह वैक्सीन लगाई गई वहां सिक्के, सुईं, पैन ड्राइव चिपकने लग गए. ऐसा ही उनकी पड़ोसी लता के साथ भी हुआ. लता ने दो महिने पहले वैक्सीन की पहली डोज लगाई थी. इस संबंध में दोनों ने स्थानीय डॉक्टरों को भी बताया, लेकिन सभी ने हैरानी जताई है, किसी ने भी इस मामले में कुछ बोलने से इनकार कर दिया है.