CAA और NRC को लेकर अमित शाह का फिर आया बयान, बोले-हम सत्य के लिए कदम उठाने से डरते नहीं हैं.

CAA और nrc को लेकर पूरे देश मे बवाल मचा हुआ है. ये बवाल कई जगहों पर हिंसा का रूप से चूका है. ऐसे में देश के गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार फिर CAA और NRC को लेकर एक बार फिर  बयान दिया है. अमित शाह का ये बयान ऐसे समय में आया है जब CAA और NRC के विरोध के चलते दिल्ली हिंसा फैली और फिर लगभग 41 लोगों की मौत हो गयी. ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी, समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) लेफ्ट और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जोरदार हमला बोला.

अमित शाह ने कहा कि सभी नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध कर रहे हैं और झूठ फैला रहे हैं. ये कह रहे हैं कि सीएए से मुस्लिमों की नागरिकता चली जाएगी. हालांकि सच्चाई यह नहीं हैं, अमित शाह ने कहा कि हम नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) में एक भी मुस्लिम या अल्पसंख्यक व्यक्ति की नागरिकता नहीं जाने देंगे. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने फिर दोहराया कि CAA नागरिकता लेने का कानून नहीं हैं, जबकि नागरिकता देने का कानून है.”””

उन्होंने जनता से अपील की कि आप बाहर आइए और झूठ फैलाने वालों से पूछिए कि आखिर सीएए में किसी की नागरिकता छीनने का प्रावधान कहां है? शाह ने कहा कि हम सत्य के लिए कदम उठाने से डरते नहीं हैं.

वैसे अमित शाह, प्रधानमंत्री मोदी और कई केन्द्रीय मंत्री लोगों को समझाने में लगे हैं कि CAA से किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता नही जाने वाली. इसके बावजूद भी देश के अलग अलग हिस्से में विरोध प्रदर्शन जारी है.