अयोध्या के अलावा देश के इस जगह पर रखी गई एक और भव्य राममंदिर की नींव, डेढ़ करोड़ की है लागत

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में लम्बे इंतजार के बाद 5 अगस्त को भव्य राममंदिर की नींव रखी गई.वही उसी मुहूर्त पर देश के एक और हिस्सें में भव्य राम मंदिर की नींव रखी गई. जी हां जिस मुहूर्त में अयोध्या में राममंदिर की नींव रखी गई उसी मुहूर्त में यहां भी कार्यक्रम हुआ और विशाल राम मंदिर की नींव रखी गई. तो चलिए जानते है इस जगह के बारे में और यहां बन रहे राम मंदिर के बारे में सारी जानकारी..

Brick Brought From Prayagraj And Laid The Foundation Of Ram Temple ...

अयोध्या की तरह ही मध्य प्रदेश के श्योपुर में बनने जा रहे भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए 5 अगस्त को नींव रखी गई. देवरीधाम पर बनने जा रहे विशाल राम मंदिर निर्माण का अयोध्या के मुहूर्त में ही भूमि पूजन हुआ, यहां भी विधि-विधान के साथ चांदी की ईंट से नींव रखी गई. एक तरफ जहां अयोध्या दीपों से जगमगा रहा था तो वही पूरा श्योपुर शहर भी दीपों से जगमग हुआ.

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि श्योपुर से 18 किमी दूर और राजस्थान की सीमा पर चंबल नदी किनारे देवरीधाम मंदिर स्थित है. यहां भगवान बजरंगबली का प्रसिद्ध मंदिर है. इनके अलावा मां दुर्गा और अन्य देवताओं के भी मंदिर बने हुए हैं. इसी परिसर में अब भव्य राममंदिर का निर्माण हो रहा है.

दरअसल, यहां के संत महामंडलेश्वर रामदास ने अयोध्या के साथ ही राममंदिर निर्माण का संकल्प लिया जो अब पूरा हो गया है. अयोध्या की तर्ज पर करीब डेढ़ करोड़ की लागत से यहां बुधवार को भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया.

जैसे बुधवार को अयोध्या में दोपहर 12 बजकर 44 मिनट पर प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी. ठीक उसी मुहूर्त में देवरीधाम में भी विशाल राम मंदिर का भूमि पूजन ‘जय श्रीराम’ के जय घोष के साथ संपन्न हुआ. इस वक्त यहां का नजारा मिनी अयोध्या जैसा ही नजर आया क्योंकि यहां पर भी श्रद्धालुओं का लंबा इंतजार अयोध्या के साथ ही खत्म हुआ.इलाके के लोग यहां विशाल राम मंदिर बनने को लेकर बहुत उत्साहित है और अपने आप को धन्य मान रहे है.

जानकारी के मुताबिक, इस मंदिर को बनाने में करीब डेढ़ करोड़ का खर्च आ रहा है और यह राशि देवरीधाम से जुड़े श्रद्धालु और अन्य रामभक्तों द्वारा जुटाई जाएगी. बता दें कि राजस्थान के अलबर के ऑर्केटेक्ट ने मंदिर का डिजाइन तैयार किया है. ऐसी भी खबर है कि लगभग तीन साल इस विशाल राम मंदिर को बनने में लगेंगे.

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जहां राम मंदिर बनने जा रहा है, वह स्थान प्राचीन बजरंगबली के मंदिर के चलते प्रसिद्ध है. देवरीधाम श्योपुर के सबसे मनोहारी स्थलों में से एक है. यहां भरपूर हरियाली है और पानी के लिए एक बड़ा तालाब है. इस तालाब में मगरमच्छ, मछली से लेकर कई प्रजाति के कछुए पाए जाते हैं.