ATS Raids: गुजरात चुनाव से पहले 13 जिलों के 100 से ज्यादा ठिकानों पर ATS की छापेमारी, 65 लोग गिरफ्तार

गुजरात चुनाव (Gujarat Assembly Election 2022 ) की सरगर्मी के बीच आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) की बड़ी कार्रवाई देखी जा रही है. राज्य के 13 जिलों के 100 से ज्यादा ठिकानों पर एटीएस (ATS) की छापेमारी चल रही है. कल (11 नवंबर की) रात से छापेमारी जारी बताई जा रही है.

सूत्रों के मुताबिक, गुजरात एटीएस (Gujarat ATS), जीएसटी विभाग (Gujarat Gst Department) के साथ साझा ऑपरेशन जारी है और अब तक सूरत, अहमदाबाद, जामनगर, भरूच और भावनगर जैसे जिलों में डेढ़ सौ ठिकाने पर छापे मारे गए हैं. ये छापेमारी अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर टैक्स चोरी और धन के लेन-देन को लेकर की जा रही है.

करोड़ों रुपये के जीएसटी चोरी का मामला

सूत्रों के मुताबिक, साजिद अजमल शेख और शहजाद नाम के शख्स एटीएस (ATS) के रडार पर थे. उनके ऊपर ATS की कई दिनों से नजर थी. ATS ने शुक्रवार रात सबसे पहले इन्हीं दो लोगों को गिरफ्तार किया. जांच में पाया गया है कि साजिद और शहजाद कथित तौर पर पूरे राज्य में जीएसटी चोरी का एक बड़ा रैकेट चलाते हैं. मामले में करोड़ों रुपये की जीएसटी (GST) चोरी बताई जा रही है. आशंका है कि गिरफ्तार किए गए लोगों के तार पीएफआई (PFI) और हवाला रैकेट से जुड़े हुए हैं.

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के लिए ढाई हफ्ते का समय बचा है. एक और पांच दिसंबर को गुजरात में वोट डाले जाएंगे, उससे पहले एटीएस-जीएसटी विभाग की छापेमारी ने चुनावी राज्य की सरगर्मी बढ़ा दी है. हालांकि, यह मामला चुनावी मुद्दा तभी बन सकता है जब यह स्पष्ट हो जाए कि जो लोग पकड़े गए हैं, वे किसी राजनेता के साथ तो नहीं जुड़े हैं.

आयकर विभाग ने भी मारे छापे

चुनावी सरगर्मियों के ही बीच शुक्रवार को गुजरात में आयकर विभाग ने भी कई ठिकानों पर छापे मारे. भुज, राजकोट और गांधीधाम के करीब 30 ठिकानों पर छापेमारी की गई. ये छापेमारी फाइनेंस ब्रोकर और रीयल स्टेट से जुड़े लोगों के ठिकानों पर हुई. इन लोगों पर आरोप है कि वे इनकन टैक्स की चोरी कर रहे थे.

गुजरात एटीएस ने दबोचा हेरोइन तस्करी का आरोपी

शुक्रवार को ही गुजरात एटीएस ने गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से अफगानिस्तान के एक नागरिक को गिरफ्तार किया. उसके पास से 8 किलोग्राम हेरोइन बरामद की गई. अंतरराष्ट्रीय बाजार के मुताबिक, जब्त की गई हेरोइन की कीमत 56 करोड़ रुपये आकीं जा रही है.

अधिकारियों ने जानकारी दी कि शुरुआती जांच में पाया गया है कि दिल्ली के लाजपत नगर में रहने वाला अफगान नागरिक हकमतुल्लाह मादक पदार्थों की तस्करी करने वाली गैंग का सदस्य है. उसने समंदर के रास्ते पाकिस्तान से गुजरात होते भारत में करीब 50 किलो हेरोइन की तस्करी करने की साजिश रची थी. अक्टूबर में इस मामले में गुजरात के तट के पास छह लोगों को नांव से दबोचा गया था. तभी से हकमतुल्लाह की तलाश की जा रही थी. अधिकारियों ने बताया कि हकमतुल्लाह पिछले चार साल से पर्यटक वीजा पर भारत में रह रहा था.