“राम विरोधी टूलकिट” विषय पर चर्चा के लिए शहजाद पूनावाला के कार्यक्रम में शामिल हुए बीजेपी राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर

अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीदी को लेकरे चल रहे विवाद पर शहजाद पूनावाला ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया. अपने कार्यक्रम द पब्लिक इंटरेस्ट में “रोम भक्तों का राम विरोध टूलकिट का पर्दाफ़ाश” पर चर्चा की. जिसमें बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर, विश्व हिन्दू परिषद् के प्रवक्ता विनोद बंसल और गंगा महासभा, अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती शामिल हुए.

चर्चा की शुरुवात में बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर ने कहा कि विपक्ष राममंदिर निर्माण कार्य में शुरू से ही अवरोध उत्पन्न करता रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव को देखते हुए विपक्षी दल बीजेपी का विरोध करते-करते अब श्री राम के विरोध में आ गये हैं. जिस प्रकार से उत्तर प्रदेश का विकस हो रहा है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की छवि को देखकर विपक्ष बुरी तरह से डरा हुआ है इसलिए अब  राम विरोधी राजनीति उत्तर प्रदेश में शुरू हो रही है. कांग्रेस पूरे भारत में छोटी होती जा रही है लेकिन राम विरोध नही छोड़ रही है. उत्तर प्रदेश की जनता अब इसकी सजा विपक्षी दलों को चुनाव में देगी. इसके साथ ही सुनील देवधर ने अयोध्या में हुई जमीन खरीदी के प्रकरण को लेकर भी जानकारी दी.

वहीँ गंगा सभा, अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री जितेंद्रानंद सरस्वती ने श्री राममन्दिर निर्माण को लेकर पैदा हुए विवाद पर नाराजगी जताई.उन्होंने कहा कि अयोध्या में राममन्दिर निर्माण से कुछ लोग बेहद दुखी हैं. राममन्दिर पर फैसला आने के बाद अयोध्या के विकास को रफ़्तार मिली है. इतना ही नही योगी आदित्यानाथ के मुख्यमंत्री बनने से पहले अयोध्या में नालियां तक ठीक तरीके से साफ़ नही की जाती थी, जमीन कोई नही पूछता था लेकिन फैसला आने के बाद अब अयोध्या में विकास हो रहा है. ये बात कुछ लोगों को हजम नही हो रही है. वहीँ लोग राममन्दिर निर्माण को लेकर विवाद खड़ा कर रहे हैं और टूलकिट के जरिये दुष्प्रचार किया जा रहा है. उन्होंने सपा नेता पप्पू तिवारी को लेकर कहा कि जिस व्यक्ति पर सौ मुकदमे चल रहे हो, जो भू माफिया के नाम से बदनाम हो वो व्यक्ति राम मंदिर निर्माण को लेकर दुष्प्रचार फैला रहा है उसकी बात पर कितना भरोसा करना चाहिए, ये बताने की जरूरत नही है.

अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री जितेंद्रानंद सरस्वती ने ये भी कहा कि राममन्दिर निर्माण में गड़बड़ी लगाने वाले लोगों की पृष्टभूमि कैसी है ये सभी जानते हैं. चाहे वो कांग्रेस हो या फिर आप! जिन लोगों के करीबी लोग कोरोना काल के संकट में ऑक्सीजन, दवाइयों की कालाबाजारी कर रहे थे वे लोग आज राममन्दिर निर्माण में अवरोध उत्पन्न करने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीँ बीएचपी के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि राममन्दिर के खिलाफ विवाद कुछ नेताओं के द्वारा राम विरोधी टूलकिट को प्रसारित करवाया जा रहा है. जिससे आम लोगों तक ये बात जाए कि राममन्दिर निर्माण में गड़बड़ी हो रही है लेकिन देश के लोग जागरूक हैं और इनके बहकावे में नही आएंगे! उत्तर प्रदेश में चुनाव को लेकर रामविरोधी पार्टिया और उनकी गैंग सक्रिय हो गयी है. पहले अयोध्या में राममंदिर निर्माण को लेकर बवाल किया फिर गाजियाबाद के अपराध को साम्प्रदायिक घटना बताकर माहौल खराब करने की कोशिश की.

देखिये पूरा वीडियो