हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए ये उपाय किसी वरदान से काम नहीं हैं! पढ़िए पूरी खबर

हाई ब्लड प्रेशर एक ऐसी समस्या बन गई है जिससे आजकल के दौर में बहुत सारे लोग प्रभावित हो रहे है..ब्लड प्रेशर को हाइपरटेंशन के नाम से भी जानते है..
हाइपरटेंशन एक गंभीर समस्या है, जिसकी वजह से हार्ट अटैक, डायबिटीज, किडनी फेल्योर और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है. आजकल ब्लड प्रेशर की बीमारी लोगों में इसलिए बढ़ रही है क्योंकि इस भाग दौड़ की ज़िंदगी में न तो उनका खानपान नियमित और अच्छा होता है और न ही लोग एक्सरसाइज या कोई शारीरिक गतिविधि करते हैं..इसके साथ कुछ लोगों में जीवनशैली की गड़बड़ी, नाइट शिफ्ट में काम करना, ज़्यादा इलेक्ट्रॉनिक चीजें का उपयोग करने जैसी समस्या से भी ब्लड प्रेशर बढ़ता है..हार्ट अटैक के सबसे ज्यादा मामलों में हाई ब्लड प्रेशर ही इसका कारण होता है

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण
हाई ब्लड प्रेशर में चक्कर आने लगते हैं, सिर घूमने लगता है..किसी काम में रोगी का मन नहीं लगता..उसमें शारीरिक काम करने की क्षमता नहीं रहती और रोगी अनिद्रा का शिकार रहता है..इस रोग का घरेलू उपचार भी संभव है, जिनके सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करने से बिना दवाई लिए इस भयंकर बीमारी पर पूर्णत: नियंत्रण पाया जा सकता है। जरूरत है संयमपूर्वक नियम पालन की..तो चलिए आपको बताते हैं हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को घरेलू उपाय के तहत कैसे कंट्रोल किया जा सकता है..

हाई ब्लड प्रेशर के लिए घरेलू उपाय

1.हाई बीपी वालों को नमक का उपयोग कम करना चाहिए, क्योंकि नमक ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाला प्रमुख कारक है.
2.लहसुन ब्लड प्रेशर ठीक करने में बहुत लाभदायक घरेलू उपाय है. ये रक्त का थक्का नहीं जमने देता है और कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित रखता है.
3.एक बडा चम्मच आंवले का रस और इतना ही शहद मिलाकर सुबह-शाम लेने से हाई ब्लड प्रेशर में लाभ होता है.
4.ब्लड प्रेशर जब बढ़ा हुआ हो तो आधा गिलास halke गर्म पानी में काली मिर्च पाउडर एक चम्मच घोलकर 2-2 घंटे के अंतराल पर पीते रहें.
5.बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को जल्दी कंट्रोल करने के लिये आधा गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़कर 2-2 घंटे के अंतराल से पीते रहें.
6.पांच तुलसी के पत्ते और दो नीम की पत्तियों को पीसकर 20 ग्राम पानी में घोलकर खाली पेट सुबह पिएं.15 दिन में लाभ नजर आने लगेगा.
7. हाई ब्लडप्रेशर के मरीजों के लिए पपीता भी बहुत लाभदायक है,इसे प्रतिदिन खाली पेट चबा-चबाकर खाएं.
8.नंगे पैर हरी घास पर 10-15 मिनट चलें.रोजाना चलने से ब्लड प्रेशर नार्मल रहता है.
9.सौंफ, जीरा, शक्‍कर तीनों बराबर मात्रा में लेकर पाउडर बना लें और इसे एक गिलास पानी में एक चम्मच मिश्रण घोलकर सुबह-शाम पीते रहें.
10.पालक और गाजर का रस मिलाकर एक गिलास रस सुबह-शाम पीयें, लाभ मिलेगा.
11.करेला और सहजन की फ़ली उच्च रक्त चाप-रोगी के लिये परम हितकारी हैं.
12.गेहूं और चने के आटे को बराबर मात्रा में लेकर बनाई गई रोटी खूब चबा-चबाकर खाएं, आटे से चोकर नहीं निकालें.
13.ब्राउन चावल उपयोग में लाएं.यह उच्च रक्त चाप रोगी के लिये बहुत ही लाभदायक है.
14.प्याज और लहसुन की तरह अदरक भी काफी फायदेमंद होता है.इनसे धमनियों के आसपास की मांसपेशियों को भी आराम मिलता है जिससे उच्च रक्तचाप नीचे आ जाता है।
15.तीन ग्राम मेथीदाना पावडर सुबह-शाम पानी के साथ लें.इसे पंद्रह दिनों तक लेने से लाभ दिखने लगता है.

याद रखें हाई ब्लड प्रेशर यानी की उच्‍च रक्‍तचाप हमारी सेहत के लिए बेहद खतरनाक होता है.लेकिन, रक्‍तचाप अगर सामान्‍य से कम हो, तो वह भी सेहत के लिए कम खतरनाक नहीं होता..इसलिए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह लेना मत भूले..