बोकारो में अवैध खनन करने गये दम्पत्ति की मौत, 500 मीटर नीचे कर रहे थे कोयले की खुदाई

झारखंड के बोकारों में अवैध खनन करने गये एक दम्पत्ति की मौत की खबर सामने आ रही है. सोमवार सुबह दोनों को शव बाहर निकाला.. दरअसल वेस्ट बोकारो ओपी क्षेत्र के लइयो 9 नंबर के पास CCL झारखंड उत्खनन परियोजना के बंद खदान में चाल (सुरंग का ऊपरी हिस्सा) धंसने से दंपती की मौत हो गई। दोनों अवैध रूप से 500 मीटर नीचे अवैध खदान में कोयला खनन कर रहे थे। इसी बीच चाल धंस गया। इसमें दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना रविवार रात की है।

खबरों की माने तो मृतकों में लइयो के 9 नम्बर के रहने वाले अनिल रविदास (36) और उसकी पत्नी अंजलि देवी शामिल हैं. दंपती के तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं. लोगों को घटना की सूचना रात 9 बजे मिली. वहीं, घटना की सूचना पाकर स्थानीय लोगों ने मौके पर पहुंच कर पुलिस को सूचना दी। इधर, परिजनों ने बताया कि ये दिन के उजाले में कोयला लाने गए थे। देर रात तक वापस नहीं लौटने पर खोजबीन की तो पता चला कि दोनों खदान में मृत पड़े हैं। दोनों का शव ओपन कास्ट खदान के 200 फीट नीचे चाल में धंसा था.

झारखंड में अवैध खनन का कारोबार बड़े जोर-शोर पर चलता है. स्थानीय लोग आजीविका के लिए जान जोखिम में डालकर अवैध कोयला खनन करने उतर जाते हैं और फिर इसी तरह के हादसे होते हैं और वे अपनी जान गंवा देते हैं. खबरों की माने तो इस तरह की घटनाएँ बड़ी आम हो गयी और घटना हो जाने पर स्थानीय लोग शव को उठाकर चले जाते हैं क्योंकि खनन अवैध होता है. पुलिस और मीडिया तक बात तभी पहुँचती है जब शव स्थानीय लोग नही निकाल पाते.