क्या सर्दियों में भारत में बढ़ सकते है कोरोना के केस? यहां पढ़े इसके पीछे क्या हो सकता है कारण

दुनिया में कोरोना महामारी का दौर जारी है.इस मामले में भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है. यहां 75 लाख से ज्यादा मामले अभी तक सामने चुके हैं. हालांकि देश में दिन पर दिन नए कोरोना मामलों की संख्या घट रही है और रिकवरी रेट बढ़ रहा है. लेकिन कई विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दी आने के बाद कोरोना के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं. इसके पीछे कई कारण गिनाए जा रहे है. ऐसे में अभी भारत में सर्दी की शुरुआत होने वाली है. तो आइए जानते है कि किन वजहों से कोरोना संक्रमण के और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.

COVID-19 likely to be more lethal as winter approaches: Experts

1. ब्रिटेन में सर्दियों की शुरुआत के साथ कोरोना केस में 40 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है. आशंका ऐसी भी जताई जा रही है कि ब्रिटेन में इस सर्दी में 120,000 मौतें भी हो सकती हैं.

2. जैसा की सर्दियों में दूसरे तरह के फ्लू के पनपने की अधिक आशंका रहती है. ऐसे में कोरोना के लिए भी ऐसा ही कहा जा रहा है. हालांकि इस बात की अभी तक कोई पुष्टि नहीं हुई है.

3. रिपोर्ट से पता चलता है कि स्पैनिश फ्लू, एशियाई फ्लू, हांगकांग फ्लू समेत सभी सांस की महामारियों ने खत्म होने के छह महीने बाद दूसरी लहर का सामना किया.

4. जैसा की पहली बार कोरोना वायरस नवंबर 2019 में वुहान में पाया गया था, इसलिए इस नवंबर में भी इसके प्रसार की आशंका बढ़ गई है.

5. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि महाराष्ट्र में स्वाइन फ्लू के केस सर्दियों में ज्यादा सामने आते हैं.

How will Coronavirus behave in the winter? Read what experts have to say -  The Financial Express

6.इस बात में कोई दो राय नहीं की सांस की समस्या वाले ज्यादातर लोग सर्दियों के दौरान पीड़ित होते हैं. भारत में प्रदूषण के साथ भी इसको जोड़ा जा रहा है, क्योंकि यहाँ के प्रमुख शहरों में प्रदूषण की स्थिति बहुत दयनिय है.

7. भारत में आने वाले महिनों में सर्दी के साथ साथ त्योहार का सीज़न भी रहा है ऐसे में यहां और अधिक अनलॉक होने की संभावना है.जो कोरोना के मामलों को और अधिक बढ़ा सकते हैं.

8. मौसम परिवर्तन के कारण कोरोना के व्यवहार में अब तक कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है, लेकिन जैसेजैसे उन देशों में मामलों की संख्या बढ़ रही है, जहां तापमान में गिरावट शुरू हो गई है. इसी वजह से भारत को लेकर भी यही उम्मीद जताई जा रही है कि देश में भी सर्दियों के दौरान कोरोना और अधिक सक्रिय हो जाएगा. लेकिन इन बातों को लेकर अभी तक कोई स्पष्टता नहीं है. ऐसे में आने वाला वक़्त ही तय करेगा की कोरोना के केस और अधिक बढ़ेंगे या नहीं.