उत्तर प्रदेश के विकास में सहायक सिद्ध हो रही केंद्र की योजनाएं : योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शुरू हुए तीन दिवसीय अर्बन कान्क्लेव में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष उत्तर प्रदेश की विकास योजनाओं को रखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की उपलब्धियां गिनाईं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार की योजनाएं उत्तर प्रदेश के विकास में बहुत सहायक सिद्ध हो रही हैं। जबसे उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है, तब से केंद्र की योजनाओं को और गति मिली है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में ऑर्गनाइजेशन में कुछ नई उपलब्धियां हासिल की है। इसमें 25 हजार की आबादी से अधिक वाले ग्रामीणों को निकाय की श्रेणी में शामिल किया जाना है। पहले 654 नगर निकाय थे आज 734 नगर निकाय हैं। प्रदेश की एक बड़ी आबादी को हम लोग बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने का कार्य कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन इस देश की नारी गरिमा के लिए ही नहीं बल्कि सामान्य जीवन को बेहतर बनाने में भी भूमिका निभा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में स्वच्छ भारत मिशन की घोषणा की थी। उस समय सबसे बड़ी बाधा के रूप में स्वच्छ भारत मिशन को देखा जाता था। 2017 के बाद उत्तर प्रदेश में दो करोड़ 60 लाख से अधिक शौचालय बनाए गए हैं। 600 निकाय ओडीएफ हो चुके हैं। 30 ओडीएफ प्लस प्लस हो गए हैं। उत्तर प्रदेश ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में अब तक 42 लाख आवास उपलब्ध कराए गए हैं। शहरी क्षेत्रों की बात करें तो 17 लाख आवास उपलब्ध कराए हैं। हाउसिंग कंस्ट्रक्शन को एक नई दिशा दिखाने वाली लाइट हाउस परियोजना के तहत छह परियोजनाएं शुरू हुई हैं। उनमें से एक परियोजना लखनऊ में हैं। आज प्रधानमंत्री मोदी के उद्घाटन करने के साथ ही बड़ी संख्या में लोगों को रहने के लिए आवास उपलब्ध हो जाएगा।