कोरोना को लेकर WHO की चेतावनी, कहा- खत्म नहीं हुई महामारी, 110 देशों में बढ़ रहे मामले

कोरोना वायरस दुनिया भर के देशों में एक बड़ी समस्या बन गया है। पिछले २ सालो से पूरी दुनिया इस महामारी से जूझ रही है। इस वायरस के चलते करोड़ों लोग परेशान हैं।  इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी है कि महामारी का खतरा कम है, लेकिन महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। WHO के मुताबिक दुनिया के 110 देशों में कोरोना केस बढ़ रहे हैं। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने कहा, ‘यह महामारी बदल रही है लेकिन यह खत्म नहीं हुई है. हमने बचाव में प्रगति हासिल की है. लेकिन सब ठीक हो गया यह नहीं कहा जा सकता. कोरोना वायरस को ट्रैक करने की हमारी क्षमता खतरे में है क्योंकि जीनोम सिक्वेंसिंग कम हो रही है. यानी कि ओमिक्रॉन को ट्रैक करना और भविष्य के उभरते वैरिएंट का विश्लेषण करना मुश्किल हो रहा है.’

कोरोना के नियमों में बरती जा रही ढील

दरसअल दुनिया के ज्यादातर देशों में कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर सख्त नियमों में ढील बरती जा रही है और लोगों की ओर से कोविड संयमित व्यवहार का पालन भी नहीं किया जा रहा है. इसी को लेकर WHO के महानिदेशक, टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने कहा, ने चेतावनी जारी की है. बुधवार को WHO ने कहा कि कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) का रूप बदल रहा है, लेकिन यह अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है. यही वजह है कि दुनियाभर के 110 देशों में इसके मामले बढ़ रहे हैं.

BA.4 और BA.5 है जिम्मेदार

बता दें कि कोरोना की चौथी लहर को लेकर जितनी भी बातें हो रही हैं उनमें BA.4 और BA.5 वेरिएंट्स (Omicron sub-variants ba.4 and ba.5 )का ज्यादा हाथ है। अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का भी यही कहना है कि इन 110 देशों जहां कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं उनमें ज्यादातर लोगों में BA.4 और BA.5वेरिएंट्स हैं। ये वेरिएंट बहुत तेजी से फैल रहा है। इसके अलावा रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने इस सप्ताह कहा कि तेजी से फैल रहे ओमीक्रोन सब-वेरिएंट BA.4 और BA.5 संयुक्त राज्य अमेरिका में कोरोनावायरस के आधे मामलों का कारण है। WHO ने सभी देशों से अपील की है कि वो अपनी जनसंख्या के करीब 70% लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाए।

वायरस को ट्रैक करना हो रहा मुश्किल

WHO  ने कहा है की कोरोना वायरस को ट्रैक करने की हमारी क्षमता खतरे में है क्योंकि रिपोर्टिंग और जीनोमिक सीक्वेंसेस घट रहे हैं जिसका मतलब है कि ओमिक्रॉन को ट्रैक करना और भविष्य के उभरते वेरिएंट का विश्लेषण करना कठिन होता जा रहा है।

भारत में तेजी से बढ़ रहे मामले

भारत में कोरोना वायरस के मामले कभी कम होते हैं तो, कभी अचानक बढ़ने लगते हैं। कल जहां 14 हजार केस आए थे वहीं, आज पिछले 24 घंटे में कोरोना के 18,819 नए मामले सामने आए हैं। देश में एक्टिव केस 1 लाख के पार हो गए हैं। फिलहाल 1.02 लाख कोरोना संक्रमितों का इलाज चल रहा है। इससे पहले आखिरी बार 27 फरवरी को एक्टिव केस की संख्या 1 लाख से ज्यादा थी। तब 1,02,601 मरीजों का इलाज चल रहा था। इसके बाद लगातार मामलों में गिरावट के चलते एक्टिव केस कम होते गए। सबसे कम एक्टिव केस 12 अप्रैल को 10,870 थे।

6 राज्यों में 1,000 से ज्यादा नए केस

नए केस के मामले में केरल और महाराष्ट्र सबसे आगे हैं। अब इस लिस्ट में पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु और दिल्ली भी शामिल हो गए हैं। इन राज्यों में बुधवार को 1 हजार से ज्यादा नए केस आए। अकेले कर्नाटक में एक दिन में नए केस में 101% की बढ़ोतरी हुई। नए केस आने के बाद देश में पॉजिटिविटी रेट 98.56% पर पहुंच गया।