Corona: तीसरी लहर से पहले बच्चों का कैसे रखें ख्‍याल,जानें कुछ आसान तरीके

बीते दिनों से ही इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि अगर कोरोना वायरस की तीसरी लहर आती है तो इसका असर बच्चों पर ज्यादा पड़ सकता है. ऐसे में डॉक्टरों ने अभी से ही सावधानी बरतने और इससे निपटने की तैयारीयां शुरू कर दी है. इसके मद्देनजर जो सबसे महत्वपूर्ण चीज है वो है बच्चों की इम्यूनिटी की देखभाल करना. क्योकि मजबूत इम्यूनिटी बच्चों में संक्रमण के खतरे को कम करती है और उनको स्वस्थ रखती है. ऐसे में आनेवाले खतरे को देखते हुए हम आपको इस लेख में बताने जा रहे है कि बच्चों की इम्यूनिटी को बूस्ट कैसे करे.. आप अपने बच्चे की डाइट में कुछ फूड्स को शामिल कर ये काम बेहद आसान तरीके से कर सकते है..तो चलिए जानते है इन फुड्स के बारें में…

corona in children: Coronavirus 3rd Wave in India: Corona Third Wave In India May Affect Children More Than Adults - कोरोना की तीसरी लहर : सुप्रीम कोर्ट को भी टेंशन, क्या तीसरी

मौसमी फल

बच्चों के डाइट में कम से कम एक स्थानीय या मौसमी फल को जरूर शामिल करे, क्योंकि इससे आंत की अच्छी बैक्टीरिया को बढ़ावा मिलेगा.

चावल

चावल कई पोषक तत्वों में भरपूर होता है. साथ ही ये पचने में भी आसान होता है इसलिए ये बच्चे की डाइट में जोड़ने के लिए एक महत्वपूर्ण फूड है.सबसे महत्वपूर्ण चावल में एक विशेष प्रकार का एमिनो एसिड होता है, जो सेहत के लिए फायदेमंद है. दाल, चावल और घी बच्चों के लिए सबसे अच्छा डिनर हो सकता हैं.

अचार या चटनी

घर पर बना अचार या चटनी बच्चों को रोजाना थोड़ी मात्रा में दे. ये उनके आंत की अच्छी बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद करेगी. साथ ही इससे बच्चे खुश भी रहेंगे,जिससे उनकी इम्यूनिटी को बूस्ट मिलेगा.

काजू

काजू बच्चों के लिए जरूरी सूक्ष्म पोषक तत्व उपलब्ध कराएगा. काजू बच्चों को सक्रिय और ऊर्जावान रखेगा. साथ ही किसी तरह का दर्द भी कम करने में मदद करेगा.

मीठा

कुछ मीठा और साधारण फूड जैसे रोटी, घी और गुड़ की चिक्की या सूजी का हलवा या रागी का लड्डू बच्चों को सक्रिय और ऊर्जावान रखने में मदद कर सकता है.

इन फुड्स को बच्चों की डाइट में शामिल करने के अलावा कुछ चीजे परहेज करके भी आप बच्चों की अच्छे से देखभाल कर सकते है. जैसे- बच्चों को किसी भी प्रकार के जंक या प्रोसेस्ट फूड्स से दूर रखे. क्योंकि सभी प्रकार के जंक या प्रोसेस्ड फूड्स में भरपूर ट्रांस फैट और न्यूनतम पोषक तत्व होते हैं. ये शरीर को पोषण नहीं देते हैं.

साथ ही आप बच्चों की नींद के शेड्यल का महत्व भी समझे.क्योंकि अच्छी नींद इम्यूनिटी और अच्छे सेहत का राज है. ये मोटापा के खतरे को कम करती है और अस्वस्थ फूड की लालसा पर भी लगाम लगाने में मदद करती है.

इस वीडियो में दी गई जानकारयां सामान्य जानकारियों पर आधारित है, इन्हे अमल करने से पहले संबंधित डॉक्टर से संपर्क जरूर करें.