Corona: साल 2021 की शुरुआत में भारत के पास होगी वैक्सीन, चीन पर वैक्सीन को लेकर क्यों उठ रहे हैं सवाल?

दुनिया भर में कोरोना की कई वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है.जिसमें से अभी 7 वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल के अंतिम चरण में पहुंच चुका हैं. लेकिन इन सब के बीच तेजी से बनाई जा रही इन वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर कई सवाल उठ रहे है. यहां तक की ये भी कहा जा रहा है कि कई देश वैक्सीन के जरिए राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश में लगे हुए है.

Coronavirus vaccine update: Russia may partner India for producing vaccines  | Business Standard News

चीन को लेकर ये बात सामने आ रही है कि चीन अपनी वैक्सीन के जरिए कूटनीति की रणनीति पर भी काम करने की योजना बना रहा है. सबसे पहले चीन अपनी वैक्सीन फिलीपींस, कंबोडिया, म्यांमार, लाओस, थाईलैंड और वियतनाम जैसे दक्षिण पूर्व एशियाई देशों को देने का वादा पहले ही कर चुका है.

इसके साथ ही चीन का कहना है कि वो अपनी वैक्सीन को लेकर इतना आश्वस्त है कि उसे क्लिनिकल स्टडी के नतीजों का इंतजार करने की भी जरूरत नहीं है. चीन में अधिकारियों को क्लिनिकल स्टडी के नतीजे आने के एक महीने पहले से ही वैक्सीन दी जा रही है. खबरों के मुताबिक, यहां पर सैनिकों, बिजनेसमैन और स्वास्थ्य क्षेत्र में काम कर रहे लोगों में इंफेक्शन के खतरे को ज्यादा देखते हुए वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी पहले ही दी जा चुकी है. जिसके बाद अब खबर ऐसी भी आ रही है कि चीन अब ये वैक्सीन वहां के ट्रांसपोर्ट और सेवा विभाग से जुड़े कर्मचारियों को भी जल्द देने वाला है.

India may get coronavirus vaccine by early 2021: Bernstein report |  Business Standard News

लेकिन इमरजेंसी में इस्तेमाल होने वाली इन वैक्सीन पर तरह-तरह के सवाल भी उठने लगे हैं. कई स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि ‘इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि बिना टेस्ट की हुई वैक्सीन सही तरीके से काम करेगी या नहीं. इस वैक्सीन को लगवाने वाले लोग ये समझेंगे कि अब वो वायरस से सुरक्षित हैं, जबकि ऐसा सोचना और खतरनाक हो सकता है. ये अनजाने में जोखिम बढ़ाने जैसा है.

हालांकि चीन की सरकार की तरफ से इस बात की ठीक-ठीक जानकारी नहीं दी गई है कि लोगों को कौन सी वैक्सीन दी जा रही है और कितने लोगों को अब तक वैक्सीन दी जा चुकी है.

Serum Institute of India provide Coronavirus vaccine at Rs 225 Per dose -  भारत का सीरम इंस्टीट्यूट मुहैया कराएगा कोरोना वैक्सीन, एक खुराक की कीमत 225  रुपए

वही बर्नस्टीन रिसर्च की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के पास 2021 की शुरुआत में कोरोना की वैक्सीन उपल्ब्ध होगी. इसके साथ ही रिपोर्ट में पुणे स्थित दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनियों में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की क्षमता को भी सराहा गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया साल 2021 में 60 करोड़ खुराक और साल 2022 में 100 करोड़ खुराक की आपूर्ति कर सकती है.