Corona: ऑक्सफोर्ड का ट्रायल फिर से शुरू,डॉ हर्षवर्धन ने बताया कब तक मिलेगी वैक्सीन

भारत में सबसे तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे है. ऐसे में कोरोना की वैक्सीन कब तक आएंगी इसको लेकर हर कोई इंतेजार कर रहा है. इसी बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर देश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बताया है कि कब से कोरोना की वैक्सीन मिलेगी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने रविवार को सडें संवाद नाम के सोशल मीडिया इंटरेक्शन में कहा कि, ‘कोरोना की वैक्सीन को लेकर अभी कोई तारीख तय नहीं है लेकिन वैक्सीन अगले साल 2021 की शुरुआत में तैयार हो जाएगी.’ केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान ये भी आश्वासन दिया कि टीका पहले उन लोगों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा, जिनको सबसे ज्यादा इसकी जरूरत है, चाहे वो इसके लिए भुगतान कर पाएं या नहीं.

2020 में नहीं, 2021 में आएगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री ने बताया सबसे  पहले किसे लगेगा टीका | dr harshvardhan interacts with his Social Media  followers through Sunday Samvaad on ...

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार बुजुर्गों और हाई रिस्क वाले वर्कप्लेस पर काम कर रहे लोगों को आपातकालीन स्थिति में कोविड-19 वैक्सीन दिए जाने पर विचार कर रही है. साथ ही साथ इस बात पर भी रणनीति तैयार कि जा रही है कि कैसे ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाया जाए.

वही दूसरी ओर कोरोना वायरस की सबसे ऐडवांस्‍ड वैक्‍सीन बताई जा रही ऑक्सफोर्ड-अस्‍त्राजेनेका वैक्‍सीन का ट्रायल फिर से शुरू होने वाला है. ब्रिटेन की एक एक्‍सपर्ट कमिटी ने सभी तरह के रिव्‍यू करने के बाद, अस्‍त्राजेनेका को इसकी मंजूरी दे दी है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और अस्‍त्राजेनेका ने शनिवार को कहा कि ब्रिटेन में वैक्‍सीन का ट्रायल फिर से शुरू किया गया है. जान ले कि पिछले दिनों ट्रायल के दौरान एक मरीज में टीके का दुष्प्रभाव सामने आने के बाद इसे रोक दिया गया था.

रूस ने 'स्पूतनिक वी' के विनिर्माण में भारत से सहयोग मांगा - Jansatta

वही अब भारत में भी इसके वैक्सीन का ट्रायल दोबारा शुरू हो सकता है. सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के नोटिस के बाद, टीके का इंसानों पर ट्रायल रोक दिया था. लेकिन अब ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के परमिशन देते ही कंपनी ने फिर से ट्रायल शुरू करने की बात कही है.

ICMR के एक शीर्ष अधिकारी ने पुष्टि की है कि तीन दिन के भीतर ऑक्‍सफर्ड वैक्‍सीन का ट्रायल फिर से शुरू हो जाएगा. बता दें कि मुंबई में 260 वालंटियर्स पर ICMR की निगरानी में ट्रायल हो रहा है. ऐसे में ऑक्‍सफर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन का ट्रायल फिर से शुरू होने के बाद लोगों में कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक बार फिर से उम्मीद जग गई है.