Corona Update: देश में लगातार बढ़ते कोरोना मामलों के बीच ऑटोमेटेड किट लॉन्च, दावा-एक घंटे में 32 टेस्ट होंगे

भारत में जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या अमेरिका और ब्राजील के बाद दुनिया में सबसे अधिक तेजी के साथ बढ़ रहे है. इसी बीच पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए एक ऑटोमेटेड टेस्ट किट लॉन्च किया है. इसके निर्माताओं का दावा है कि ये एक स्वचालित Covid-19 टेस्टिंग मशीन है, जो एक घंटे में 32 टेस्ट कर सकती है. साथ ही इन्होंने दावा किया है कि ये मशीन Covid-19 के अलावा अन्य बीमारियों के लिए भी टेस्टिंग करने में सक्षम है. इस टेस्ट किट को सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया और मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस की ओर से विकसित किया गया है.

SII के CEO अदार पूनावाला के अनुसार,प्राइवेट लैब इस मशीन का उपयोग करके प्रत्येक टेस्ट के लिए 1000 रुपये का भुगतान करेंगे. वहीं आम लोगों के लिए प्रत्येक टेस्ट की कीमत 2500 रुपये होगी. अदार पूनावाला ने ऑटोमेटेड मॉलीक्यूलर कोविड टेस्ट मशीन यानी टेस्ट किट की लॉन्चिंग पर कहा कि भारत में टेस्टिंग रेट को बढाना वक्त की जरूरत है.

यहां आपको बता दें कि अभी देश में ICMR के रिपोर्ट के मुताबिक, 7 जुलाई तक टेस्ट किए गए सैंपलों की कुल संख्या 1 करोड़ 4 लाख 73 हजार 771 है, इनमें से 2 लाख 62 हजार 679 सैंपलों का टेस्ट कल यानी सिर्फ एक दिन में किया गया है.

वही देश में कोरोना मरीजों की संख्या साढ़े 7 लाख के करीब पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा अपडेट के अनुसार, बीते 24 घंटें में कोरोना के 22 हजार 752 नए मामले सामने आए है और 482 लोगों की मौत हो गई है. देश में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 लाख 42 हजार 417 हो गई हैं. जिनमें से 20 हजार 642 लोगों की मौत हो गई है, जबकि राहत की बात है कि चार लाख 56 हजार लोग इस महामारी से ठीक हो चुके हैं. इसके साथ ही अभी देश में 2 लाख 65 हजार कोरोना के एक्टिव केस हैं.

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर राजधानी दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. भारत के इन पांच प्रदेशों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस बने हुए हैं.अगर झारखंड के बारें में बात करे तो यहां कोरोना के करीब 3 हजार मामले अभी तक दर्ज किए जा चुके है. जिनमें से 22 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि इनमें से 2 हजार 104 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके है.

वही कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. हालांकि, अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर को देखे तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. लेकिन ऐसे ही आए दिन इसी रफ्तार में कोरोना के मामले बढ़ते रहे तो वो दिन दुर नहीं जब भारत कोरोना से दुनिया का सबसे ज्यादा प्रभावित देश बन कर उभर जाएंगा.