Corona Update: एक तरफ मरीजों की तो दूसरी ओर शवों की कतार! इतने बूरे हालात…पढ़ें पूरी खबर

देश भर में जारी कोरोना की दूसरी लहर ने कोहराम मचा दिया है. बढ़ते कोरोना के केस ने हालात इतने बेकाबू और खराब कर दिए है कि हर प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाओं की पोल खुल गई है. राजधानी दिल्ली हो या महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश हो या मध्य प्रदेश, झारखंड हो या बिहार हर तरफ से ऐसी तस्वीरे सामने आ रही है जो दिल दहला देने वाली है. एक ओर अस्पतालों के बाहर इलाज करवाने के लिए मरीजों की कतार लगी है तो दूसरी तरफ श्मशान घाटों के बाहर भी शवों की कतार है, जो मुक्ति पाना चाहते हैं. लेकिन दोनों ही जगह व्यवस्था की पोल खुल गई है. कोई व्यवस्था दोनों जगह नजर नहीं आ रही है.

कोरोना वायरस की चपेट में एक ऐसा देश जो त्रासदी को छिपा रहा है - BBC News  हिंदी

ताजा मामला झारखंड से देखने को मिला. एक बेटी की बिलखती आंखे और चीख-पुकार की ऐसी तस्वीर झारखंड से समाने आई जिसने हर किसी को झकझोर कर रख दिया. ये तस्वीर ये बताने के लिए काफी है कि झारखंड की स्वास्थ्य व्यवस्था दम तोड़ रही है. हजारीबाग से आये संक्रमित पवन गुप्ता की रांची सदर अस्पताल की दहलीज पर ही मौत हो गयी. परिजन बेड के लिए दौड़ते रह गये…बेटी डॉक्टर-डॉक्टर चिलाते रह गई, लेकिन बावजूद इसके यहां ना कोई डॉक्टर मिला ना इलाज..सिस्टम की लचारी ने पवन गुप्ता की जान ले ली. ये घटना तब घटी जब राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अस्पताल का निरीक्षण कर रहे थे और खुद अस्पताल में मौजूद थे..लेकिन वो सामने से ही गुजर गए. ऐसे में आक्रोशित परिजनों का गुस्सा मंत्री के सामने ही फूट पड़ा..मृतक की बेटी ने मंत्री को जमकर खरी-खोटी सुनाई और कहा कि नेताओं को सिर्फ वोट से मतलब है, क्या स्वास्थ्य मंत्री मेरे पिता को वापस कर सकते हैं?. बेटी ने कहा कि सिस्टम की लाचारी के कारण उसके पिता ने दम तोड़ दिया. झारखंड में कोरोना से हालात बदतर हो गए है बीते 24 घंटें में 2 हजार 844 नये कोरोना संक्रमित मिले है और 29 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गयी है.

No place in crematorium to burn dead bodies In bhopal covid-19 Patient  death mpny | भोपाल में कोरोना का कहर: शवों को जलाने श्मशान में जगह नहीं,  रिजर्व करनी पड़ रही चिताएं |

राजधानी दिल्ली की बात करें तो कोरोना का बढ़ता संक्रमण दिल्ली में रोज नए रेकॉर्ड बनाता जा रहा और पिछला तोड़ता जा रहा है. आलम यह है कि दिल्ली देश में इस समय मुंबई को पीछे छोड़ते हुए कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर बन गया है. दिल्ली में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के 13,468 नए केस सामने आए हैं और 81 लोगों की मौत हुई है. मुंबई में कोरोना के 7898 नए मामले सामने आए हैं और 24 घंटे में 26 मौतें हुई हैं. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 60,212 नए मामले सामने आए हैं और 24 घंटे में 281 मौतें हुई हैं. इसी के मद्देनजर महाराष्ट्र में आज 14 अप्रैल रात आठ बजे से 15 दिनों का राज्यव्यापी कोरोना कर्फ्यू लगाने की घोषणा की गई है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी पर प्रतिबंध रहेगा.

कोरोना वायरस का संक्रमण महाराष्ट्र की तरह अब उत्तर प्रदेश में भी कहर मचाने लगा है. यूपी में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के रेकॉर्ड 18 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए हैं. मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 8998 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 40 मौते हो गई. इसके अलावा  हरियाणा में एक दिन में 3845 नए मामले सामने आए हैं, जो कि एक दिन में सबसे ज्यादा हैं. देश के अधिकांश राज्य में कोरोना के बढ़ते केस रिकॉर्ड तोड़ रहे है. यही वजह है कि देश में एक दिन में पहली बार रिकॉर्ड 1 लाख 84 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आए हैं. जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 1 करोड़ 38 लाख 73 हजार 825 हो गए. वहीं बीते 24 घंटें में 1027 मरीजों की मौत होने से मृतकों की कुल संख्या 1 लाख 72 हजार 85 हो गई.

Delhi Coronavirus Death News: Hours Of Waiting For Cremation In Cremation  Ground, No Place Left For Burial Of Dead Bodies In Cemetery - Delhi: श्मशान  घाटों में दाह संस्कार के लिए घंटों

भारत में सिर्फ कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या ही नहीं बल्कि श्मशान घाट के बाहर लगी शवों की कतार भी डराने वाली है. श्मशान घाट पर लोगों को अपने परिजनों का अंतिम संस्कार करने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है. वही अस्पताल के बाहर एम्बुलेंस की कतारें खड़ी हैं. क्योंकि अस्पताल में बेड नहीं है,डॉक्टर की कमी है…ऐसे में हालात और खराब होते जा रहे है.