Corona Update: कुल संक्रमितों का आंकड़ा 58 लाख के पार, 82% ठीक हुए मरीज

भारत में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. बीते 24 घंटें में देश में 86 हजार 52 कोरोना के नए मामले सामने आए है और 1 हजार 141 लोगों की मौत हो गई. लेकिन राहत की बात है कि पिछले 24 घंटें में 81 हजार 177 मरीज ठीक भी हुए है. ये छह दिन बाद है जब नए संक्रमितों की संख्या ठीक होने वालें मरीजों से ज्यादा है. दरअसल, भारत में बीते छह दिनों से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने से अधिक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है. वही देश में लगातार 2 सितंबर के बाद से हर रोज कोरोना से एक हजार से ज्यादा लोगों की मौते हो रही है.

Coronavirus: Covid-19 Patients In India Cross 52 Lakh, Recovery Rate 78.86  Percent | भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या 52 लाख के पार, रिकवरी रेट  78.86 फीसदी

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा अपडेट के मुताबिक, देश में अब कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 58 लाख 18 हजार के आंकड़े को पार कर गई है. इनमें से मरने वालों की कुल संख्या 92 हजार 290 हो गई है. वही 9 लाख 70 हजार सक्रिय मामले अभी भी बने हुए है. हालांकि अच्छी बात है कि कुल ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 47 लाख 56 हजार हो गई है.

ऐसे में अगर इन आंकड़ो को देखे तो पता लगता है कि कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब 4 गुना अधिक है, जो की कोरोना काल में दिल को सुकुन देने वाली खबर है.

India Coronavirus Cases And Death Latest Update 24 August 2020 | कोरोना  अपडेट: देश में अबतक 31 लाख के पार केस, 57 हजार से ज्यादा मौत, 24 घंटे में  आए 61 हजार नए मामले

वही देश में मृत्यु दर गिरकर अब करीब 1.58 फिसदी हो गई है. इसके साथ ही एक्टिव केस रेट में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर घटकर 17 फिसदी हो गई है. वही रिकवरी रेट यानी ठीक होने वालों की दर भी लगातार सुधर रही है और देश में रिकवरी रेट 82% तक पहुंच गई है. ये अच्छी बात है कि देश में कोरोना से मृत्यु की दर दुनिया के औसत से कम है और इसमें लगातार गिरावट आ गई है. इसके साथ ही देश में रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ रहा है.

ICMR के रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 24 सितंबर तक कोरोना वायरस के 6 करोड़ 89 लाख से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए गए. इनमें से सिर्फ कल गुरुवार को 15 लाख से ज्यादा सैंपल की टेस्टिंग की गई है.