जल्द ही आम लोगों तक पहुंचने वाली है कोरोना वैक्सीन, भारत में बढ़ी वैक्सीन बनाने की रफ्तार

रूसी वैक्सीन को लेकर भले ही दुनियाभर में कई सवाल उठ रहे हों, लेकिन रूस अपने वैक्सीन को लेकर निश्चिंत है. रूस का मानना है कि उसकी कोरोना वैक्सीन कारगर और प्रभावशाली है. हालं ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, उसने वैक्सीन की पहली खेप तैयार भी कर ली है. न्यूज एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, रूस इस महीने के अंत तक बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर देगा और सितंबर तक यह आम लोगों को मिलनी शुरू भी भी हो जाएगी, जबकि पहले उसने घोषणा की थी कि सितंबर में वैक्सीन का उत्पादन शुरू होगा और अक्तूबर में पूरे देश में टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा. इस वैक्सीन को विकसित करने वाले वैज्ञानिकों की मानें तो यह कोरोना वायरस के संक्रमण से दो साल तक शरीर को बचाएगी.

वही भारत में कोरोना वैक्सीन की बात करे तो अब भारत सरकार कोविड-19 वैक्‍सीन की डील करने के लिए ऐक्टिव हो गई है.अभी देश में तीन वैक्‍सीन का ट्रायल तो चल ही रहा है. इसके अलावा दो और कपंनियों, यानी कुल पांच फार्मा कंपनियों से सरकार की बात हुई है. उनसे कहा गया है कि तीन दिन के भीतर इसका रोडमैप दें.मतलब अगर उनकी वैक्‍सीन को मंजूरी मिलती है तो कितनी जल्‍दी और किस कीमत पर वैक्‍सीन तैयार करके दे सकती हैं.

भारत ने अभी तक किसी कंपनी से डील नहीं की है मगर टीका हासिल करने की कोशिश में जुट गया है. कोरोना टीके को लेकर बने एक्‍सपर्ट ग्रुप ने सोमवार को देश की दिग्‍गज फार्मा कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात की थी. इसी मीटिंग में 5 कंपनियों से आगे का रोडमैप तैयार करके देने को कहा गया है.

इन सारी बातों को देखे तो पता लगता है कि अब भारत भी कोरोना वैक्सीन को लेकर अपनी रफ्तार पकड़ रहा है और जल्द ही भारत में भी इसकी वैक्सीन आने की संभावना बन रही है.