दिवाली पर खत्म हुआ लोगों में कोरोना का खोफ, सराफा कारोबार में 15 टन सोने की बिक्री

धनतेरस पर देशभर के लोग सोना-चांदी और अन्य सामानों की खरीदारी करते. ऐसे में आप जानकर हैरान हो जायेगें की इस बार देश में लगभग 7,500 करोड़ रुपये का सराफा कारोबार हुआ है. ये अबतक का कोविड 19 के बाद सबसे ज्यादा आकड़ा हैं. इसबार कोविड 19 के मामलों के काफी कम हो जाने के कारण ही ग्राहकों के विचार सकारात्मक हुए है.

इस बार आभूषण उद्योग के लिए दिवाली और धनतेरस रहने वाली है फीकी, बिक्री कम  होने की आशंका

देश के लोग अब कोरोना महामारी को भूल पूरी तरह मानो भूल सी गये हैं और इस त्योहारी सीजन में खो गये हैं. बाजारों की रौनक एक बार फिर लौट आई हैं और लोग खुलकर खरीदारी कर रहे हैं. आपको यह जानकर हैरानी होगी की इस बार धनतेरस पर 15 टन सोने के गहनो, बार और सिक्कों की बिक्री हुई है. अगर साफ शब्दों में बोला जाये तो इस बार धनतेरस पर देशभर में लगभग 7,500 करोड़ रुपये का सर्राफा कारोबार हुआ है. कहा यह भी जा रहा हैं की सोना ऑल टाइम हाई लेवल से करीब 8000 रुपये सस्ता मिल रहा है. जिसका असर बाज़ारों पर साफ दिख रहा हैं. इस साल जुलाई से सितंबर की तिमाही में देश में गोल्ड की डिमांड में 50 फीसदी की शानदार बढ़त हई है. कोरोना लॉकडाउन खत्म होने के बाद से ही लगातार कारोबार बढ़ रहा है.

अब पुरानी गोल्ड ज्वैलरी बेचने पर भी लग सकता है जीएसटी का झटका, कम हो जाएगा  मुनाफा - now gst on old gold jewellery selling profits will be reduced tutd  - AajTak

कन्फडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के अध्यक्ष बी.सी. भरतिया और महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने यह बयान दिया हैं कि धनतेरस का भारत में काफी धार्मिक महत्व होता है और इसी के कारण इस दिन ज्वैलरी की काफी बिक्री हुई. उन्होंने कहा कि की हो सकता हैं ये सोने और ज्वैलरी की बिक्री आगे और बढ़ जाये क्योंकि नवंबर आते ही उसके दुसरे सप्ताह से शादियों का लग्न शुरू हो रहा है.

10 Grams gold rate today 15 March 2021: हल्की तेजी के बावजूद सोने के भाव  45,000 रुपये के नीचे, जानें- आज क्या हैं 22ct-24ct सोने के रेट? - grams  gold rate today

कहा कितने सोने की बिक्री
कन्फडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने कहा- दिल्ली में 1,000 करोड़ रुपये सोने की बिक्री,  महाराष्ट्र में करीब 1,500 करोड़ रुपये सोने की बिक्री,  उत्तर प्रदेश में करीब 600 करोड़ रुपये सोने की अनुमानित बिक्री शामिल है. दक्षिण भारत में, लगभग 2,000 करोड़ रुपये होने की बिक्री होने का अनुमान है.