कोरोना की जाँच के लिए किया गया बड़ा बदलाव, अब आसानी से करा सकते है कोरोना की जांच

भारत में दिनों दिन बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए अब फैसला लिया गया है कि कोरोना की जांच कराने के लिए किसी डॉक्टर की पर्ची की जरूरत नही पड़ेगी. मतलब अब अब कोई भी अपनी जांच करा सकता है. इसके लिए अब चिकित्साधिकारी का आदेश और किसी भी डॉक्टर की पर्ची की जरूरत नहीं होगी.

अब कोई भी करवा सकता है कोरोना की जांच 

भारत सरकार के आदेश में कहा गया है कि कंटेनमेंट जोन्स में काम कर रहे हेल्थवर्कर्स का टेस्ट जरूर होना चाहिए. इस आदेश के बाद किसी में लक्षण हों या ना हों अब कोई भी अपनी जांच करा सकता है. इसके साथ ही कहा गया है कि जिन भी लोगों ने बीते 14 दिनों में कोई अंतरराष्ट्रीय यात्रा की है, उनमें सिम्प्टमैटिक के अलावा भी सभी की जांच होगी. वहीं अस्पतालों में गंभीर एक्यूट रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन (SARI) से पीड़ित सभी रोगियों की जांच होगी. इसके साथ ही  हेल्थकेयर सेंटर में मौजूद सभी लक्षण वाले लोगों की जांच होगी. वहीँ  किसी दूसरे राज्य या दूसरे देशों की यात्रा करने वालों के लिए कोविड-19 निगेटिव होना अनिवार्य है

हर दिन नए रिकॉर्ड बनाते कोरोना के मरीज 

दरअसल  शनिवार सुबह तक देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 40 लाख को पार कर गई है. कोरोना के नए केस हर दिन नए रिकॉर्ड बना रहे हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना (Corona) के 86 हजार 432 नए मामले सामने आए, जबकि 1089 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. नए केस आने के बाद देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ने 40, 23,179 हो गई है. शुक्रवार की बात करें तो देश में 83,341 नए मरीज मिले थे, जबकि 1,096 लोगों की मौत हो गई थी.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अभी कोरोना के 8 लाख 46 हजार 395 एक्टिव केस हैं, जबकि कोरोना संक्रमण के चलते 69 हजार 561 मरीजों की जान जा चुकी है. वहीं, राहत की बात ये है कि अब तक 31 लाख 7 हजार 223 लोग रिकवर हो चुके हैं.