लॉकडाउन 5.0 की शुरुवात! देश में कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख 90 हजार

देश में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं. बढ़ते मरीजों की बीच आज पांचवें चरण की शुरुआत हो रही है, जिसे अनलॉक-1 का नाम दिया गया है. इसके तहत कई तरह की छूट आज से देशभर में लागू होंगी और लॉकडाउन की सख्ती सिर्फ कोरोना से प्रभावित कंनेटमेंट ज़ोन तक रह जाएगी. दूसरी ओर देश में कोरोना के मामलों की संख्या अबतक 1.90 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है.

सोमवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, अब देश में कोरोना के कुल 190535 केस हैं. जबकि 5394 लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में अब कोरोना वायरस के 93322 एक्टिव केस हैं. वहीँ दिल्ली सरकार की ओर से लॉकडाउन 4 के वक्त ही बॉर्डर को खोल दिया गया था और एंट्री-एग्जिट के लिए किसी पास की जरूरत नहीं थी.  लेकिन  नोएडा और गाजियाबाद ने अपने बॉर्डर अभी भी नहीं खोले हैं. हालाँकि केंद्र सरकार ने राज्यों पर छोड़ दिया है कि वे अपने बॉर्डर खोल सकते हैं लेकिन नॉएडा और गाजियाबाद प्रशासन की तरफ से तर्क दिया गया है कि पिछले कुछ दिनों में जो कोरोना के केस सामने आए हैं उनमें अधिकतर दिल्ली से संबंधित हैं. बॉर्डर न खुले होने से नॉएडा से दिल्ली आने वाली गाड़ियों की लम्बी कतार लग गयी और जाम जैसी स्थिति पैदा हो गयी.

वहीँ झारखंड राज्य में फिर रविवार काे 40 नए मरीज मिले. इसके साथ ही झारखंड में मरीजाें की संख्या बढ़कर 635 हाे गई है. रविवार काे मिले नए मरीजाें में सबसे ज्यादा 20 धनबाद में मिले हैं. इसके अलावा 10 पूर्वी सिंहभूम, 3 हजारीबाग, 3 गिरिडीह, 2 साहेबगंज, व 1-1 रामगढ़ और रांची के हैं. रांची में संक्रमित मिला मरीज आईआईएम रांची का ऑफिस असिस्टेंट है.

वहीँ झारखण्ड से मिल रही खबरों के मुताबिक़ यहाँ लैब में पहुँच रहे कोरोना सैम्पल की संख्या दोगुनी हो गयी है. दरअसल जांच के लिए जो सैम्पल भेजे जा रहे हैं उनकी संख्या अब पहले से दोगुनी हो गयी है लेकिन लैब में जांच की स्पीड अभी भी पहले जैसे हैं यही वजह है कि इस वक्त हजारों की संख्या में सैंपल पेंडिंग में पड़े हुए हैं.