15 अगस्त तक आ सकती है कोरोना की देसी वैक्सीन, जल्द ही शुरू होगा ट्रायल

देश में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच एक अच्छी खबर सामने आ रही है. जल्द ही भारत कोरोना की वैक्सीन तैयार करने वाला है. जी हां आने वाले 15 अगस्त को ही कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) लॉन्च हो सकती है. इस वैक्सीन को फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार किया है. वैक्सीन के लिए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद यानी ICMR ने क्लिनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दी है.

आईसीएमआर की ओर से जारी लेटर के अनुसार, 7 जुलाई से ह्यूमन ट्रायल के लिए इनरोलमेंट शुरू हो जाएगा. यानी की 7 जुलाई से क्लिनिकल ट्रायल शुरू हो जाएंगा. इसमें बिल्कुल देरी नहीं होगी. इसके बाद अगर ट्रायल हर चरण में सफल हुआ तो 15 अगस्त तक कोरोना वायरस की वैक्सीन कोवैक्सीन मार्केट में आ सकती है. 15 अगस्त को भारत बायोटेक और आईसीएमआर की तरफ से वैक्सीन की लॉन्चिंग हो सकती है.

इस ट्रायल के लिए ICMR ने इन संस्थानों का किया है चयन

देश में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए बन रही वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल के लिए 12 संस्थानों का चयन किया गया है, इनमें से एक भुवनेश्वर स्थित इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेस एंड एसयूएम हास्पिटल है. इसके अलावा क्लीनिकल ट्रायल के लिए चुने गए अन्य संस्थान विशाखापत्तनम, रोहतक, नयी दिल्ली, पटना, बेलगाम (कर्नाटक), नागपुर, गोरखपुर, कट्टानकुलतुर (तमिलनाडु), हैदराबाद, आर्य नगर, कानपुर और गोवा में स्थित हैं.

भारत बायोटेक का वैक्सीन बनाने में पुराना अनुभव

हैदराबाद स्थित फार्मा कंपनी भारत बायोटेक इससे पहले भी कई बीमारियों की वैक्सीन तैयार की है. भारत बायोटेक कंपनी ने इससे पहले पोलियो, रेबीज, रोटावायरस, जापानी इनसेफ्लाइटिस, चिकनगुनिया और जिका वायरस के लिए भी वैक्सीन बनाई है.
फिलहाल आईसीएमआर की ओर से यही अनुमान लगाया गया है कि ह्यूमन ट्रायल के लिए इनरोलमेंट की शुरूआत 7 जुलाई से हो सकती है. इसके बाद चरणवार ट्रायल किया जाएगा. अगल ट्रायल के नतीजे सफल होते है तो मार्केट में 15 अगस्त को वैक्सीन लॉन्च कर दी जाएगी.