बेहद खराब हो गयी दिल्ली की हवा, पहली बार AQI का आकड़ा 400 के पार

पूरे देश ने बड़ी ही सावधानी के साथ विजयादशमी का त्यौहार मनाया लेकिन दशहरा के बाद दिल्ली एनसीआर की हवा बेहद खराब श्रेणी में पहुँच गयी है. सोमवार की सुबह दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 405 रहा. इस सीजन में यह पहली बार है जब दिल्ली की हवा का AQI 405 के पार गया है. इससे पहले यानी रविवार को दिल्ली में हवा की गुणवत्ता का स्तर 352 AQI था.  आईटीओ में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 307 दर्ज किया गया. आनंद पर्बत में AQI 403 और अशोक विहार में 520 दर्ज किया गया. दिल्ली कैंट और नरायणा को छोड़कर रविवार को सभी इलाकों में वायु गुणवत्ता सूचकांक गंभीर स्थिति में था सिर्फ दिल्ली ही नही गाजियाबाद और गौतम बौद्ध नगर में रविवार शाम हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ स्तर पर पहुंच गई. गुड़गांव और फरीदाबाद में भी हवा की गुणवत्ता काफी हद तक ‘बहुत खराब’ रही. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के अनुसार वायु प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 दिल्ली के चार पड़ोसी जिलों में ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गया है.

CPCB डेटा के अनुसार रविवार रात 8 बजे गाजियाबाद के लोनी इलाके में AQI 416, इंदिरापुरम में 374, संजय नगर में 354 और वसुंधरा में 330 था. जबकि नोएडा के सेक्टर 116 में AQI 382 और सेक्टर 62 में 363 और सेक्टर 1 में 356 दर्ज किया गया. गुड़गांव के सेक्टर 51 में AQI 370 और विकास सदन में 329 रहा, जबकि फरीदाबाद के सेक्टर 16ए में 366, सेक्टर 30 में 363 और एनआईटी में 319 दर्ज किया गया.

वैसे हवा की गुणवत्ता (AQI) अगर 0 से 50 के बीच रहे तो इसे अच्छी मानी जाती है, वहीं 51 से 100 के बीच में संतोषजनक और 101 से 200 के बीच में मध्यम मानी जाती है. लेकिन अलग यह 200 से ऊपर पहुंच जाए तो यह खराब की स्थिति में आ जाती है. 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 तक बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर स्थिति हो जाती है.