दिल्ली सरकार ने सिर्फ 30 मिनट के दिवाली इवेंट में खर्च किए 6 करोड़ रुपये

दिवाली में दिल्ली का क्या हाल होता है ये तो सब जानते है. लेकिन इस बार की दिवाली में प्रदूषण और कोरोना दोनों की स्थिती और खराब ना हो इसके मद्देनजर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिवाली कुछ अलग अंदाज में मनाई थी. उनके द्वारा की गई दिवाली पूजा को 14 नवंबर को लाइव टीवी पर टेलिकास्ट भी किया गया था. लेकिन अब एक आरटीआई में खुलासा हुआ है कि दिल्ली सरकार ने इस पूरे दिवाली पूजा कार्यक्रम में 6 करोड़ रुपये खर्च किए थे.

डॉक्टर, नर्स, शिक्षक को वेतन देने के लिए पैसे नहीं, केजरीवाल सरकार ने दिवाली  पूजा इवेंट पर हर मिनट खर्च किए 20 लाख रुपये, आरटीआई से खुलासा ...

दरअसल, एक्टिविस्ट साकेत गोखले द्वारा दायर की गई एक आरटीआई में दिल्ली सरकार के टूरिज्म विभाग ने जवाब देते हुए इस बात की जानकारी साझा की है.अब इसको लेकर साकेत गोखले ने ट्वीट किया है और लिखा है कि , ‘दिल्ली सरकार ने टैक्सपेयर्स के करीब 6 करोड़ रुपये अपने लक्ष्मी पूजा इवेंट में खर्च किया, 14 नवंबर को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ये कार्यक्रम लाइव दिखाया गया था.’इसके साथ ही साकेत गोखले अपने ट्वीट में ये भी लिखते है कि सिर्फ 30 मिनट के इवेंट के लिए जनता के 6 करोड़ रुपये को खर्च किया गया, जो एक मिनट में 20 लाख रुपये होता है.

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस साल दिल्ली सरकार ने दिवाली के मौके पर लोगों से अपील की थी कि पटाखे ना जलाएं और प्रदूषण रहित दिवाली के लिए सरकार द्वारा आयोजित पूजा में सम्मिलित हों. ऐसे में दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर में दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल, उनके परिवार और पूरी कैबिनेट ने पूजा की थी, जिसका प्रसारण तय समय पर किया गया था.अब आरटीआई के जवाब में हुए इस खुलासे के बाद दिल्ली सरकार निशाने पर आ गई है.